अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साल भर भी नहीं टिका साढ़े 28 लाख का पुल

रातू- पिठोरिया पथ के बीच 2006-07 में 28 लाख 50 हाार रुपये की लागत से बना पुल गुणवत्ता के अभाव में पूरी तरह ध्वस्त हो गया।इस पुल की स्वीकृति एनआरइपी- 1 ने दी थी। पुल निर्माण कार्य की देखरख का जिम्मा विभाग के सहायक अभियंता चौबे को सौंपा गया था। वहीं मोहन कुमार चौधरी इसके कार्यपालक अभियंता थे। पुल के ध्वस्त हो जाने से स्थानीय लोगों में विभाग के अधिकारियों और अभियंताओं के प्रति आक्रोश व्याप्त है। लोगों को पुल ध्वस्त हो जाने के कारण पिठोरिया जाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण इसके विरोध में आंदोलन करने की तैयारी कर रहे हैं। इस बाबत अभियंता एचके सिंह से संपर्क करने की कोशिश की गयी, लेकिन उनसे बात नहीं हो सकी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: साल भर भी नहीं टिका साढ़े 28 लाख का पुल