DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपा को बहुमत मिलेगा, मुलायम होंगे सीएम: अखिलेश

सपा को बहुमत मिलेगा, मुलायम होंगे सीएम: अखिलेश

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा को हारा हुए कमांडर बताते हुए अपनी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलने की उम्मीद चलाई। उन्होंने कहा कि मुलायम ही मुख्यमंत्री होंगे।

अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा के खिलाफ  करारा प्रहार करते हुए सोमवार को कहा कि बेनी हारे हुए कमांडर हैं और वह कांग्रेस से निकलने का रास्ता तलाश रहे हैं।

लखनऊ  में मीडियाकर्मियों से बात करते हुए अखिलेश ने कहा, ''मैंने पहले भी कहा था कि बेनी उधार के कमांडर हैं और ऐसे कमांडरों से जंग नहीं जीती जाती। बेनी हारे हुए कमांडर हैं और वह कांग्रेस से अलग होने का रास्ता तलाश रहे हैं।''

सपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, ''वह उधार के कमांडर थे और अब जब नतीजे कांग्रेस के पक्ष में नहीं आ रहे हैं तो यह हारा हुआ कमांडर उससे पीछा छुड़ाने की कोशिश कर रहा है।''

अखिलेश ने साथ ही यह भी कहा कि कांग्रेस इस हारे हुए कमांडर को बाहर का रास्ता भी दिखा सकती है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ''एक तो हमें पूर्ण बहुमत मिलने जा रहा है और यदि पूर्ण बहुमत मिलने जा रहा है तो फिर किसी के साथ गठबंधन की बात ही बेमानी है। सपा अपने बूते सरकार बनाएगी।''

उन्होंने कहा कि पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं और वरिष्ठ नेताओं की आम सहमति है कि मुलायम सिंह यादव ही मुख्यमंत्री बनें और वही बनेंगे।

कभी समाजवादी पार्टी में रहे कांग्रेस नेता बेनी प्रसाद पर तीखा हमला करते हुए समाजवादी पार्टी ने कहा है कि पार्टी में कभी गुंडे नहीं रहे और अगर थे तो वे बेनी के ही गुंडे रहे होंगे, जिन्हें वे साथ ले गए।

बेनी प्रसाद ने रविवार को को बहुजन समाज पार्टी को समाजवादी पार्टी से बेहतर बताते हुए कहा था कि उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस को यदि समर्थन लेने या देने की जरूरत पड़ी तो बसपा उनकी पहली प्राथमिकता होगी क्योंकि सपा में गुंडे हैं जबकि बसपा दलितों की पार्टी है और गुंडों का दमन करने वाली है।

विधानसभा में नेता विपक्ष और सपा के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि वर्मा को खुद ही मालूम नही रहता कि वह क्या बोल रहे हैं। सपा में कहीं गुंडे नही हैं। वर्मा जब पार्टी में थे तो उन्ही के गुंडे रहे होंगे, जिन्हे वह अपने साथ लेकर चले गए।

उन्होंने कहा कि बेनी वरिष्ठ नेता है उन्हें शालीनता के साथ सोच समझकर बोलना चाहिए। वह पहले सपा में ही थे और मुलायम सिंह यादव के बाद उन्हें दूसरे नंबर पर माना जाता था। पार्टी में उनकी खूब चलती थी, लेकिन वर्ष 2007 चुनाव के पहले यादव से खटपट हो जाने के बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी। समाजवादी क्रांतिदल के नाम से नया संगठन बनाया। वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव के पहले उन्होंने अपने संगठन का कांग्रेस में विलय कर दिया।

यादव ने दावा किया कि सपा बहुमत के साथ अपनी सरकार बनाएगी। किसी के समर्थन की जरुरत नहीं पड़ेगी। जनता मायावती सरकार के भ्रष्टाचार से ऊब गई थी और सपा ने पांच साल तक लगातार इसके खिलाफ लड़ाई लड़ी। इसलिए जनता ने सपा को पहली पसंद माना है और बहुमत से सरकार बनाने का मौका देने जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सपा को बहुमत मिलेगा, मुलायम होंगे सीएम: अखिलेश