DA Image
25 फरवरी, 2020|7:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शव के साथ मुखिया के घर पर प्रदर्शन

शेरपुर पश्चिमी पंचायत के महादलितों ने बुधवार को लंबे समय से बीमार चल रही एक महिला की मौत के बाद मुखिया से पहले कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत पैसे की मांग की और पैसा नहीं मिलता देख उन्होंने शव के साथ मुखिया के दरवाजे पर प्रदर्शन किया। जानकारी के अनुसार उक्त पंचायत के मुसहरी निवासी विजेन्द्र मांझी की पत्नी रखा देवी की मौत बीमारी के कारण हो गयी। बीपीएल परिवार होने के कारण उसके पास अंतिम संस्कार के लिए पैसे नहीं थे। गांव के लोगों ने मृतक के पति को मुखिया से सरकारी सहायता की मांग करने को कहा। फंड में पैसा न होने का बहाना कर मुखिया ने अपना पल्ला झाड़ लिया।ड्ढr ड्ढr मुखिया के इस जवाब से नाराज लोगों ने मृतक का शव मुखिया के घर के दरवाजे पर रख कर प्रदर्शन किया। इसके बाद भी मुखिया पर कोई असर नही पड़ा तो ग्रामीणों ने चंदा कर उक्त शव का अंतिम संस्कार कराया। इस बाबत पूछे जाने पर ग्राम सेवक रामपुकार ने कहा कि फंड में पैसा नहीं रहने के कारण पहले से ही चार बीपीएल परिवार अपनी पारी आने का इंतजार कर रहे हैं। सनद रहे कि सरकार के द्वारा बीपीएल परिवार के सदस्य की मृत्यु की स्थिति में कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत तत्काल सहायता राशि उपलब्ध करानी है पर पंचायतों में फर्जीवाड़ा के माध्यम से इस योजना में भी लूट खसोट जारी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: शव के साथ मुखिया के घर पर प्रदर्शन