अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कृषि पर कर लगाए पाक : आईएमएफ

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) ने पाकिस्तान को सलाह दी है कि यदि वह अपना राजस्व बढ़ाने को लेकर वाकई गंभीर है तो वह कृषि उत्पादों पर कर लगाने की व्यवस्था करे। आईएमएफ के कार्यकारी बोर्ड की शुक्रवार को वाशिंगटन में बैठक होनी है, जिसमें 7.6 अरब डॉलर के कर्ज सहित पाकिस्तान की सहायता के लिए आर्थिक पैकेज को लेकर विचार-विमर्श होगा। ‘दि डान’ की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान को इसी माह के अंत तक धन मिलना आरंभ हो जाएगा। आईएमएफ 45 दिनों के अंदर चार अरब डॉलर का भुगतान करेगा। बाकी राशि 200में दी जाएगी। आईएमएफ ने पाकिस्तान से मंदी से निपटने के लिए और प्रभावी कदम उठाने को कहा। इन कदमों में कृषि उपज पर कर लगाना अपरिहार्य बताया गया है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के वित्तीय मामलों के सलाहकार शौकत तरीन ने पिछले माह वाशिंगटन यात्रा के दौरान वादा किया था कि वह कृषि सहित सभी क्षेत्रों को कर के दायरे में लाएंगे, ताकि राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाया जा सके। वित्तीय विश्लेषकों के अनुसार पाकिस्तान पहले भी कृषि पर कर लगाने का वादा कर चुका है, लेकिन बाद में वह इसे आनाकानी कर टाल गया। लेकिन इस बार मुद्राकोष ने सख्त चेतावनी दी है कि यदि इस बार वह कृषि उत्पादों पर कर लगाने में विफल रहा तो यह उसे मुद्राकोष की आखिरी मदद होगी। आईएमएफ की इस ताकीद से पाकिस्तानी जनता को समझ में आ गया है कि अगले वर्ष उस पर करों का बोझ बेहताशा बढ़ने वाला है।ड्ढr आईएमएफ ने पाकिस्तान को सरकारी खर्चो में जबरदस्त कटौती तथा कार्यकुशलता आधारित राजस्व वसूली व्यवस्था बनाने के लिए भी कहा है।ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कृषि पर कर लगाए पाक : आईएमएफ