DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीत के साथ श्रीलंका फाइनल में, भारत बाहर

जीत के साथ श्रीलंका फाइनल में, भारत बाहर

मेलबर्न क्रिकेट मैदान पर शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया पर श्रीलंका की जीत के साथ भारतीय टीम का त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया है। सीरीज के अंतिम लीग मैच में श्रीलंका ने ऑस्ट्रेलिया को नौ रन से हराया और भारत को स्वदेश वापसी के लिए बाध्य किया।

फाइनल में पहुंचने के लिए श्रीलंका को यह मैच या तो जीतना था या फिर टाई कराना था। मैच रद्द होने और अंक बंटने की सूरत में भी श्रीलकाई टीम फाइनल में पहुंच जाती लेकिन ब्रिस्बेन में यह मैच टेलीविजन पर देख रही भारतीय टीम और करोड़ों भारतीय प्रशंसकों को श्रीलंका की हार से कम कुछ और मंजूर नहीं था। भारतीय टीम और प्रशंसक ऑस्ट्रेलिया की जीत के लिए प्रार्थना कर रही थी लेकिन वह नाकाम रही।

ज्ञात हो कि मंगलवार को अपने अंतिम लीग मुकाबले में भारत ने श्रीलंका को सात विकेट से हराकर बोनस अंक हासिल किया था। उस जीत ने भारत को फाइनल की दौड़ में बनाए रखा था लेकिन फाइनल में पहुंचने के लिए उसे इस मैच के परिणाम पर आश्रित रहना पड़ रहा था, जहां श्रीलंका की हार से उसका काम आसान होता।

बहरहाल, श्रीलंका ने पहले खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया के सामने 239 रनों का लक्ष्य रखा लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम डेविड हस्सी (74) और शेन वॉटसन (65) की शानदार पारियों के बावजूद 49.1 ओवरों में सभी विकेट गंवाकर 229 रन ही बना सकी।

हस्सी अंतिम ओवर की पहली गेंद पर अंतिम विकेट के तौर पर पवेलियन लौटे। श्रीलंका की ओर से लसिथ मलिंगा ने चार और नुवान कुलासेकरा ने दो विकेट लिए।

हस्सी ने 74 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया। उन्होंने सात रन बनाने वाले जेवियर डोर्थी के साथ नौवें विकेट के लिए 39 रन जोड़कर अपनी टीम के लिए जीत का आधार तय किया था लेकिन वह अंतिम ओवर में खुद ही कुलासेकरा की गेंद पर लांग ऑफ पर उड़ाने के फिराक में आउट हो गए।

श्रीलंका के दिनेश चांदीमल को मैन ऑफ द मैच चुना गया। वेस्ट ऑफ थ्री का पहला फाइनल मुकाबला रविवार को ब्रिस्बेन में खेला जाएगा।

हस्सी और डोर्थी से पहले शेन वॉटसन 65 और माइकल हस्सी 29 ने चौथे विकेट के लिए 87 रनों की साझेदारी निभाकर स्थिति सम्भालने की कोशिश थी। मेजबान टीम ने 26 रन के कुल योग पर अपने तीन विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद से हस्सी और वॉटसन ने 87 रन जोड़े।

वॉटसन ने 83 गेंदों पर पांच चौके लगाए। माइकल हस्सी ने 56 गेंदों की पारी में तीन चौके लगाए। हस्सी का विकेट 113 रन के कुल योग पर गिरा जबकि वॉटसन 140 रन के कुल योग पर आउट हुए। मेजबान टीम की ओर से वॉटसन और हस्सी के अलावा मैथ्यू वेड नौ रन बनाकर पवेलियन लौटे जबकि डेविड वॉर्नर छह रन बना सके।

पीटर फॉरेस्ट दो रन ही जोड़ सके। वॉर्नर का विकेट 16 रन के कुल योग पर गिरा। विकेटकीपर बल्लेबाज वेड 18 और फॉरेस्ट 26 रन के कुल योग पर आउट हुए।

इससे पहले, श्रीलंकाई टीम निर्धारित 50 ओवरों में 238 रन बनाकर पवेलियन लौट गई। उसकी ओर से दिनेश चांदीमल ने 84 गेंदों पर 74 एवं कुमार संगकारा ने 93 गेंदों 64 रन बनाए। लाहिरू थिरिमाने ने 51 रनों का योगदान दिया।

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सबसे सफल गेंदबाज डेनियल क्रिस्टियन थे जिन्होंने हैट्रिक के साथ नौ ओवर में 31 रन देकर पांच विकेट झटके। इसके अलावा तेज गेंदबाज पैटिंसन ने भी चार विकेट झटके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीत के साथ श्रीलंका फाइनल में, भारत बाहर