अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली चोरी में पौने पांच लाख जुर्माना

विद्युत बोर्ड के अधिकारियों ने दो अलग-अलग घरों में सोमवार को छापा मारकर चार लाख 73 हाार रुपये का जुर्माना किया है। बहादुरपुर के महात्मागांधी सेतु रोड स्थित गणेश मेहता के घर छापेमारी की गई। गणेश कॉमर्शियल कनेक्शन लिए हुए थे और मीटर बाईपास करके बिजली का उपयोग कर रहे थे। गणेश के ऊपर 4.25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। इसी प्रकार कंकड़बाग के एमआईाी सेक्टर में मोहन सिंह के घर छापा मार बिजली चोरी पकड़ी गई। मोहन के घर का बिजली कनेक्शन काट दिया गया था। इसके बाद भी वे अवैध रूप से बिजली का उपयोग कर रहे थे। उनके ऊपर 48 हाार रुपये जुर्माना लगाया गया है। इसकी जानकारी कंकड़बाग के इस्क्यूटिव इांीनियर दिलीप कुमार ने दी। छापेमारी दल में अस्सिटेंट इांीनियर कपिलेश्वर चौधरी, जूनियर इांीनियर मणिकांत निराला आदि शामिल थे। पटना पुलिस ने रिजर्व बैंक से मांगी रिपोर्टड्ढr पटना (का.सं.)। पंजाब नेशनल बैंक की एक्जीबिशन रोड शाखा से एचडीएफसी के 7.0 करोड़ रुपये गायब होने के मामले में अनुसंधान कर रही पुलिस को कई अहम जानकारी हाथ लगी है। छानबीन के दौरान मिले तथ्यों के आधार पर सोमवार की शाम पटना पुलिस मुख्यालय ने स्पष्ट कर दिया कि इसमें दोनों बैंक के कर्मचारी-अधिकारी दोषी हैं जिनकी गिरफ्तारी हो सकती है। पिछले ढाई वर्षो से बैंकिंग ट्रांजिट प्रक्रिया में एचडीएफसी और पीएनबी की दोनों शाखा नियमों की अवहेलना कर अपनी गतिविधि चला रहे थे।ड्ढr ड्ढr इस बाबत एसएसपी अमित कुमार ने बताया कि पीएनबी के चेस्ट से रकम गायब नहीं हुआ है। करोड़ों की राशि कब गायब हुई, फिलहाल निश्चित तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता। वैसे 21 अक्तूबर के बाद पैसा गायब होने का पता चला है। इस संबंध में रिजर्व बैंक से भी रिपोर्ट मांगा गया है। ताकि बैंकिंग लॉस की जांच में दोषी कर्मियों का पता चल सके। चेस्ट आरबीआई की ही प्रोपर्टी होती है। आरबीआई द्वारा समय-समय पर इसका निरीक्षण किया जाता है। विदित हो कि महेशनगर निवासी पीएनबी के कैशियर आर. के. नारायण इस मामले के प्रकाश में आने के पूर्व ही रहस्यमय ढंग से गायब हैं जिनकी तलाश पुलिस कर रही है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिजली चोरी में पौने पांच लाख जुर्माना