अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरा शतक..और युवी होंगे विशिष्ट क्लब में

राजकोट और इंदौर में लगातार दो धमाकेदार शतक बना चुके टीम इंडिया के धुरंधर बल्लेबाज युवराज सिंह के पास कानपुर के ग्रीन पार्क में गुरूवार को होने वाले तीसरे वनडे में एक विशिष्ट क्लब में शामिल होने का मौका रहेगा। युवराज यदि कानपुर में भी शतक बना जाते हैं तो वह एकदिवसीय मैचों में लगातार तीन शतक बनाने वाले दुनिया के चौथे बल्लेबाज बन जाएंगे। एकदिवसीय क्रिकेट में अब तक 2,777 मैचों में केवल तीन खिलाड़ी ही ऐसे हुए हैं, जिन्होंने लगातार तीन वनडे में शतक बनाए हैं। इनमें पाकिस्तान के जहीर अब्बास और सईद अनवर तथा दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स शामिल हैं। 26 वर्षीय युवराज ने इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट में पहले वनडे में नाबाद 138 रन और इंदौर में सोमवार को दूसरे वनडे में 118 रन बनाए थे। वह इस समय जिस फॉर्म में खेल रहे हैं उसे देखते हुए यह उम्मीद की जा रही है कि वह कानपुर में भी यह कारनामा कर सकते हैं। इंग्लैंड के कप्तान केविन पीटरसन से दूसरे वनडे की हार के बाद जब यह पूछा गया कि वह युवराज नाम के तूफान को कैसे रोकेंगे तो उन्होंने मजाकिया लहजे मंे कहा कि मेरी कोशिश होगी कि मैं युवराज को होटल ले जाऊं और उन्हें तीसरे वनडे के लिए कानपुर नहीं पहुंचने दूं। युवराज के इस प्रदर्शन ने सचिन तेंदुलकर के शारजाह में अप्रैल 1में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उस बेमिसाल प्रदर्शन की याद दिला दी, जब उन्होंने लगातार दो मैचों में 143 और 134 रन बनाकर भारत को खिताबी जीत दिलाई थी। 417 वनडे में विश्व रिकार्ड 42 शतक बना चुके सचिन के करियर में शारजाह ही एकमात्र ऐसा मौका था, जब उन्होंने लगातार दो मैचों मंे शतक बनाए थे। युवराज मौजूदा सीरीज के अब तक के अपने प्रदर्शन से सचिन की उस उपलब्धि की बराबरी कर चुके हैं।ड्ढr ड्ढr युवराज पहले दो मैचों में ‘मैन ऑफ द मैच’ भी रह चुके हैं। कानपुर में उनके पास शतक के साथ-साथ ‘मैन आफ द मैच’ की भी हैट्रिक बनाने का मौका रहेगा। अपने 21वनडे के करियर में युवराज 17 बार ‘मैन आफ द मैच’ बन चुके हैं। उनसे आगे भारत में मोहम्मद अजहरूद्दीन (334 मैच में) 18 मैन आफ द मैच, सौरभ गांगुली (311 मैच) 31 मैन आफ मैच और सचिन तेंदुलकर (417 मैच) विश्व रिकार्ड 57 मैन आफ द मैच हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तीसरा शतक..और युवी होंगे विशिष्ट क्लब में