अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘अच्छी अर्थव्यवस्था के लिए बस सालभर इंतजार’

वैश्विक और घरेलू अर्थव्यवस्था में आये भूचाल के थमने का फिलहाल धर्य से इंतजार कीािये। घरेलू स्तर पर इसके पूरी तरह से ठीक होने में साल भर का वक्त लगेगा। वित्त मंत्री पी.चिदंबरम के मुताबिक आगामी वित्त वर्ष 2000 की दूसरी छमाही तक अर्थव्यवस्था फिर सेीसदी की विकास दर वाली पटरी पर जरूर लौट आएगी। अलबत्ता, उन्होंने इस बात से साफ इनकार कर दिया कि भारतीय अर्थव्यवस्था गिरावट के दौर से गुजर रही है। तमाम संकटों के बावजूद आत्मविश्वास से भर चिदंबरम ने कहा कि यूपीए के कार्यकाल में औसतन विकास दरीसदी की रही है। चालू साल में थोड़ी गिरावट जरूर है लेकिन संतोषजनक विकास दर हासिल होगी और अगले वर्ष की दूसरी छमाही तक अर्थव्यवस्था फिर से उसी पटरी पर लौट आएगी। चालू साल के दौरान भी कंपनियों कर बाद लाभ में 30 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। चिदंबरम ने साफ कहा कि अर्थव्यवस्था में गिरावट का तकनीकी मतलब समझना होगा। इस आधार पर घरलू अर्थव्यवस्था इससे बाहर है। यह समझना होगा कि समस्या की वजह भारत नहीं है लेकिन इसके समाधान के लिए उसे आमंत्रित जरूर किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘अच्छी अर्थव्यवस्था के लिए बस सालभर इंतजार’