अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षक बहाली: पूर्णिया प्रमंडल में जमा हुए 12.50 लाख आवेदन

दूसरे चरण की शिक्षक बहाली के लिए जमा हुए आवेदन पत्रों के बार में शिक्षा विभाग को पूर्णिया प्रमंडल से रिपोर्ट मिल गई है। यह वाकई चौंकाने वाली है। अकेले इस प्रमंडल में कुल 12.50 लाख फार्म जमा हुए हैं। वैसे विभाग को हर प्रखंड में लगभग 10 हजार फार्म जमा जमा होने का अनुमान है। इस तरह 534 प्रखंडों के लिहाज से यह आंकड़ा 53-54 लाख तक पहुंच सकता है। पूर्णिया प्रमंडल के चार जिलों में सबसे अधिक 4.64 लाख फार्म इस बार बाढ़प्रभावित रहे अररिया में पड़े हैं। इसके बाद कटिहार (4.04 लाख), फिर पूर्णिया (2.50 लाख) और तब किशनगंज (0 हजार) जिले का नम्बर रहा है।ड्ढr ड्ढr सोमवार को आखिरी दिन था और विभाग के निर्देश पर नियोजन इकाइयो में रात 10 बजे तक आवेद फार्म जमा लिए गए। पंचायतस्तर के जिन नियोजन इकाइयों ने अभ्यर्थियों से आवेदन पत्र जमा नहीं लिए थे उनके फार्म तीन दिनों तक प्रखंडों में भी लिए जाने हैं। इसके बाद ही कुल जमा हुए आवेदनों की संख्या का पता चलेगा।ड्ढr आवेदन लेने का पहला दौर खत्म होते ही शिक्षा विभाग अब अगली प्रक्रिया की तैयारी में जुट गया है। इसके तहत सभी नियोजन इकाइयों को पूरी तत्परता के साथ मेधा सूची तैयार करने का काम शुरू करने को कहा गया है। नीतीश बिना फिलामेन्ट के बल्ब : राजदड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। राजद के राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता श्याम रजक एवं प्रांतीय महासचिव निहोरा प्रसाद यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिना फिलामेन्ट का बल्ब बताते हुए कहा है कि वे दूसर जलते बल्ब के सहार काम करते हैं। नीतीश जी कमजोर हो गये हैं इसलिए उन्हें गुस्सा अधिक आता है। अब अंधेर में तीर मारने से लालटेन का शीशा फूटने वाला नहीं है। मुख्यमंत्री रहते हुए भी यह जानकारी नहीं है कि उन्होंने अपने बगल में आवास प्रतिपक्ष की नेता राबड़ी देवी को दिया है न कि रलमंत्री लालू प्रसाद को। मुख्यमंत्री को अब भी भ्रम है कि जनता ने उन्हें यह गद्दी सौंपी है। यह गद्दी तो उन्हें केजे राव ने दी है। दोबारा काठ की हांडी चढ़ने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि राज्यसभा से त्यागपत्र देने के भय से जदयू प्रवक्ता शिवानन्द तिवारी ने मन:स्थिति खो दी है। उनका आचरण ही रहा है- जिधर देखे खीर उधर गेले फिर। कभी नीतीश कुमार को रीढ़विहीन नेता कहने वाले शिवानन्द तिवारी बिना पेंदी के लोटा है। सांसद राजनीति प्रसाद ने कहा है कि शिवानन्द तिवारी जैसा फ्रॉड राजनेता दूसरा कोई पैदा नहीं हुआ है। लालू प्रसाद के सहार एमएलए बनने वाले वाले श्री तिवारी खुद नटवरलाल के बाप हैं। श्री रजक ने कहा कि लालू प्रसाद को अपना झोला ढोने वाला कहकर उन्होंने अपने वर्गचरित्र का ही परिचय दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिक्षक बहाली: पूर्णिया प्रमंडल में जमा हुए 12.50 लाख आवेदन