अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्र प्रतिभाशाली और शिक्षक हैं मेहनती

वीं पंचवर्षीय योजना के प्रस्तावों का जायजा लेने आयी यूजीसी टीम ने 1नवंबर को निरीक्षण कार्य पूरा कर लिया। इस क्रम में टीम ने कुछ विभागों का दुबारा निरीक्षण किया। 20 नवंबर को टीम यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के साथ बैठक करगी। इसके बाद रिपोर्ट तैयार होगी। बुधवार को टीम ने पीजी विभागों के साथ सेंट्रल लाइब्रेरी, कंप्यूटर सेंटर एवं एकेडेमिक स्टाफ कॉलेज का निरीक्षण भी किया।ड्ढr सेंट्रल लाइब्रेरी एवं कंप्यूटर सेंटर के निरीक्षण के क्रम में टीम ने इंफ्लीबनेट के कम इस्तेमाल पर हैरानी जतायी। साथ ही कहा कि विभागों में ज्यादा से ज्यादा इंटरनेट का इस्तेमाल होना चाहिये। इसके लिए उन्होंने विवि अधिकारियों से कहा कि वे छात्रों को प्रेरित करं। इससे पहले टीम ने दर्शनशास्त्र, समाजशास्त्र, अंग्रेजी, हिंदूी, उर्दू एवं बांग्ला विभागों का निरीक्षण किया। छात्रों ने हेडक्वार्टर की दूरी के कारण हो ही परशानी का जिक्र किया, तो कुछ ने सिलेबस से संबंधित पुस्तकों की कमी बतायी। कई शिक्षक रिसर्च को लेकर हो रही परशानी की जानकारी दी। इस दौरान कुछ विभागों ने अतिरिक्त प्रस्ताव भी दिये। एनिमल बायोटेक्नोलॉजी के लिए लाख, जू-लॉजिकल म्यूजियम के लिए 3.63 लाख एवं एनिमल हाउस के जीर्णोद्धार के लिए 2.78 करोड़ रुपये का प्रस्ताव जंतुशास्त्र विभाग ने दिया है। एमएससी इनवायरमेंटल साइंस के लिए 25 लाख रुपये की मांग यूनिवर्सिटी ने की है।ड्ढr नियुक्ित संबंधी मामले से लेना देना नहीं : टीमड्ढr यूजीसी टीम के सदस्यों ने स्पष्ट किया है कि झारखंड में नियुक्ित विवाद से उनका कोई लेना देना नहीं हैं। उन्हें इस मामले की कोई जानकारी भी नहीं है। वे यहां 11 वीं पंचवर्षीय योजना में रांची यूनिवर्सिटी द्वारा दिये प्रस्ताव का भौतिक जायजा लेने आये हैं। टीम के संयोजक ए कलानिधि सहित अन्य सदस्यों ने निरीक्षण के दौरान पत्रकारों को बताया कि जेपीएससी नियुक्ित का मामला क्या है, उन्हें नहीं पता। वे यहां यूनिवर्सिटी के विकास के लिए बनी योजनाओं की समीक्षा कर रहे हैं। यह यूनिवर्सिटी जनजातीय क्षेत्र में उच्च शिक्षा का प्रसार कर रही है। यूनिवर्सिटी के पास कई नयी योजनाएं हैं, जो इस राज्य की दशा और दिशा तय करेगी। यहां के छात्र प्रतिभाशाली हैंऔर शिक्षक मेहनती। प्रो कलानिधि ने कहा कि उन्होंने जो कुछ देखा और समझा है, उसे अपनी रिपोर्ट में व्यक्त करंगे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छात्र प्रतिभाशाली और शिक्षक हैं मेहनती