अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईआईटी पटना में खुलेगा शोध केंद्र

आईआईटी पटना में शोध केंद्र खुलेगा। एक साल पूरा होने के पहले आईआईटी पटना को एक तोहफा मिला है। अब यहां छात्र शोध के साथ पीएचडी की डिग्री प्राप्त कर सकेंगे। वर्ष 200ाुलाई से शोध कार्य शुरू हो जाएगा। आईआईटी पटना के डीन समरंद्र दंडपत ने कहा कि शोध केंद्र खोलने की अनुमति मिल गई है। इससे तकनीकी क्षेत्र में पीएचडी करने की इच्छा रखने वालों को काफी फायदा होगा। हालांकि किन-किन विषयों पर शोध कार्य शुरू होगा, इसका निर्णय अभी नहीं लिया गया है। अगले वर्ष की शुरुआत में विषयों का चयन कर लिया जाएगा।ड्ढr ड्ढr इस संबंध में एनआईटी के अवकाश प्राप्त प्रोफेसर संतोष कुमार ने बताया कि आईआईटी पटना में शोध कार्य शुरू होना बिहार के लिए बड़ी उपलब्धि होगी। इससे तकनीकी क्षेत्र पर शोध करने वाले छात्रों को काफी लाभ मिलेगा। इधर आईआईटी में रािस्ट्रार की नियुक्ित कर ली गई है। रािस्ट्रार के रूप में सुभाष पांडेय ने अपना कार्यभार संभाल लिया है। इसके पहले श्री पांडेय आईआईटी कानपुर में कार्यरत थे। सहायक रािस्ट्रार भी इस सप्ताह में कार्यभार संभाल लेंगे। पहले सेमेस्टर की परीक्षा 22 नवंबर से शुरू हो रही है। 28 नवंबर को परीक्षा समाप्त हो जाएगी। दूसर सेमेस्टर की पढ़ाई जनवरी के पहले सप्ताह में शुरू होगी। इसके लिए 30 शिक्षकों का चयन कर लिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईआईटी पटना में खुलेगा शोध केंद्र