DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भीषण बिजली संकट से उत्तर बिहार त्रस्त

आवंटन में भारी कटौती के कारण बुधवार को उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट रहा। शहर में रलमंत्री लालू प्रसाद के कार्यक्रम के बावजूद मुजफ्फरपुर ग्रिड को मात्र 20 मेगावाट बिजली मिली। दोपहर में इसके 5 मेगावाट पर पहुंच जाने से जिले के ज्यादातर हिस्से में बिजली गुल रही। बोर्ड सूत्रों के अनुसार मुजफ्फरपुर के आवंटन में वृद्धि को लेकर सीएलडी पटना से कई बार संपर्क किया गया, लेकिन सीएलडी ने आवंटन में बढ़ोतरी से इनकार कर दिया।ड्ढr ड्ढr बिजली वितरण से जुड़े एक अधिकारी का कहना है कि रलमंत्री के कार्यक्रम को लेकर बिजली में सुधार की उम्मीद थी। लेकिन पटना स्थित सीएलडी ने सूबे को मात्र 600 मेगावाट बिजली मिलने की जानकारी देते हुए आवंटन में बढ़ोतरी से इनकार कर दिया। तिरहुत एरिया विद्युत बोर्ड के जीएम नरन्द्र कुमार ने स्वीकार किया कि पूर उत्तर बिहार में बिजली संकट की स्थिति गंभीर है। उन्होंने कहा कि संकट को लेकर मुख्यालय से संपर्क किया गया है। दोपहर में मात्र 5 मेगावाट बिजली मिलने के संबंध में जीएम ने कहा कि तकनीकी कारणों से ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई थी। शाम में स्थिति में सुधार हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भीषण बिजली संकट से उत्तर बिहार त्रस्त