अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समुद्री डाकुआें के खिलाफ जमीनी हमला हो: रूस

स ने कहा है कि उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) और यूरोपीय संघ एवं उसके सदस्य देशों को उसके साथ समन्वय बनाकर सोमालिया के समुद्री डाकुआें के खिलाफ जमीनी हमला करना चाहिए। नाटो में रूस के राजदूत दमित्री रोगोजिन ने बुधवार को कहा कि रूसी विशेषज्ञों का मानना है कि सोमालिया की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए डाकुआें के खिलाफ केवल समुद्र में हमला करने मात्र से उन्हें हराना संभव नहीं है। चाहे इस हमले में किसी शक्ितशाली देश के एक बड़े बेड़े को ही क्यों न लगा दिया जाए। उन्होंने कहा कि अब यह नाटो और यूरोपीय संघ एवं उसके सदस्य देशों पर पर निर्भर करता है कि वे समुद्री डाकुआें के जमीन पर स्थित आधार शिविर को नष्ट करने के लिए जमीनी लड़ाई छेड़ते हैं अथवा उनके खिलाफ समुद्र में ही उलझे रहते हैं। हमें अच्छी तरह से पता है कि सोमालिया के समुद्री डाकुआें का आधार शिविर जमीन पर है लकिन उनके खिलाफ कार्रवाई में रूस की मदद ली जानी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: समुद्री डाकुआें के खिलाफ जमीनी हमला हो: रूस