DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरे वोट पर्व में भी वह जोश नहीं

घरों से कम निकले मतदाता लोकसभा चुनाव के तीसर चरण में राजधानी लखनऊ में उम्मीद थी कि वोटर ज्यादा जागरूक दिखेंगे लेकिन नतीजा उल्टा ही रहा। पुराने लखनऊ और मोहनलालगंज में कुछ छिटपुट घटनाएँ छोड़ कर कहीं कोई वारदात नहीं हुई। मोहनलालगंज में भरौली इलाके में खफा लोगों ने जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट के वाहनों पर पथराव कर दिया। लखनऊ और मोहनलालगंज में सुबह आठ बजे से 12 बजे के बीच और फिर शाम चार बजे से पाँच बजे के बीच ही अधिकतम मतदान हुआ।ड्ढr सोनिया गांधी की वीवीआईपी सीट रायबरली पर सभी निगाहें थीं। लेकिन कांग्रेस के बहुत चाहने के बावजूद यहाँ कम ही मतदाताओं ने वोट डाले। प्रियंका गांधी की ‘अधिक से अधिक’ मतदान की अपील बहुत कारगर नहीं दिखाई दी। हरदोई में सुबह नौ बजे तक छह, 11 बजे तक 15, एक बजे तक 21.5 प्रतिशत वोट पड़े। वहीं मिश्रिख में नौ बजे तक 7.5, 11 बजे तक 17, एक बजे तक 26 प्रतिशत वोट पड़े। कानपुर में श्रीप्रकाश जायसवाल के समर्थकों ने पीठासीन अधिकारी को पीटा। श्यामनगर में भाजपाइयों को थाने में बंद करने पर भीड़ ने थाना घेर लिया। पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। हमीरपुर-महोबा-तिंदवारी लोकसभा क्षेत्र में सरीला के एक बूथ पर एक भी वोट नहीं पड़ा। गाँव में सड़क, पानी का इंतजाम नहीं होने की बात कहते हुए मतदाताओं ने वोटिंग से इनकार कर दिया। बुंदेलखंड में पारा 47 डिग्री के पार चला गया तो मतदाता घर से निकलने में हिचके। प्रदेश में 45 वोट पड़े विशेष संवाददाता लखनऊ कड़ी धूप और गर्मी के बीच प्रदेश के 15 लोकसभा क्षेत्रों में गुरुवार को हुए मतदान में लगभग 44 से 45 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सभी जगहों पर मतदान शान्तिपूर्ण रहा। कई जगहों पर शाम पाँच बजे के बाद भी मतदाताओं की लाइन लगी रही। 30 पोलिंग स्टेशनों पर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों में खराबी की शिकायतें मिलीं जिन्हें तत्काल ठीक कर दिया गया या वहाँ नई मशीनें लगा दी गईं।ड्ढr श्री बिश्नोई ने बताया कि ईवीएम खराब होने, मत देने से रोकने, मतदाता सूची में नाम न होने आदि की कुल 40 शिकायतें प्राप्त हुईं जिनका तुरन्त ही समाधान कर लिया गया। आयोग द्वारा तैयार किए गए कम्युनिकेशन प्लान के जरिए 1210 कॉलें की गईं। इनमें 0 कॉलें सीधे पोलिंग स्टेशनों को सूचनाओं की जाँच करने के लिए की गईं। 170 कॉलें भी आईं। उन्होंने कहा कि 24,पोलिंग स्टेशनों पर हुए इस मतदान पर निगरानी के लिए लगभग छह हजार डिजिटल तथा वीडियो कैमरे तथा 4200 माइक्रो प्रेक्षक लगाए गए थे। उन्होंने कहा कि 88.8 प्रतिशत मतदाताओं ने मतदाता फोटो पहचान पत्र के जरिए अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तीसरे वोट पर्व में भी वह जोश नहीं