DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संघ ने आडवाणी केचच सुर में सुर मिलाया

आरएसएस ने लालकृष्ण आडवाणी के आरोपों को दोहराते हुए कहा है कि मालेगांव बम विस्फोट की अभियुक्त साध्वी प्रज्ञा को पुलिस हिरासत में यातना दिया जाना मानवता और नारी गरिमा पर आघात है। संघ के मुखपत्र अर्गेनाइजर ने साध्वी प्रज्ञा और लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की गिरफ्तारी पर लिखे गए संपादकीय में कहा कि एटीएस ने हिटलर और स्टालिन के दमनकारी खुफिया संगठनों के अत्याचारों की याद दिला दी हैं। एटीएस ने राजनीतिक आकाओं के इशारे पर निर्दोष लोगों को फर्जी मामले में फंसाया है। पंजाब के पूर्व पुलिस प्रमुख के पी एस गिल को उद्धत करते हुए कहा कि देश के इतिहास में ऐसा शायद ही कभी हुआ हो कि किसी महिला को दस दिन तक पुलिस हिरासत में रखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संघ ने आडवाणी केचच सुर में सुर मिलाया