अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब प्रोटोटाइप ट्राली से घर आएगी रसोई गैस

रसोई गैस सिलेण्डर की आपूर्ति प्रोटोटाइप ट्राली से कीोाएगी। आईओसी (इंडियन आयल कम्पनी) की यादातर एोंसियों ने इस ट्राली से डिलिवरी शुरू कर दी है। दूसरी कम्पनियों की एोंसियाँ भी यही रास्ता अख्तियार करंगी। इसके बाद साइकिल से गैस सिलेण्डरों की आपूर्ति प्रतिबंधित कर दीोाएगी।ड्ढr वेण्डर साइकिल पर लादकर रसोई गैस सिलेण्डर की आपूर्ति करते हैं। यह तरीका सुरक्षा मानकों के विपरीत है। गैस एोंसी या गोदाम से उपभोक्ता के घर तक सिलेण्डर पहुँचाने के दौरान वेण्डर अक्सर भीड़भाड़ वाले इलाके से गुारते हैं। राह में कई लोग बीड़ी-सिगरट भी पीते रहते हैं। ऐसे में साइकिल के पिछले हिस्से पर बँधे तीन सिलेण्डर आग की चपेट में आने की आशंका रहती है। सुरक्षा अधिकारियों के इस ओर ध्यान दिलाने के बाद आयल कम्पनियाँ चौकन्नी हुईं। आईओसी ने एक प्रोटोटाइप ट्राली तैयार की,ोो सामान्य ट्राली से दो गुनी महँगी है। इस ट्राली में गैस एोंसी का नाम, उसका फोन नम्बर र्दा होने के साथ ही रसोई गैस चूल्हा, रबर, रग्युलेटर आदि का प्रचार भी है। आईओसी की यादातर एोंसियों ने इसी ट्राली से गैस की आपूर्ति शुरू कर दी है।ड्ढr ऑल इंडिया एलपीाी डिस्ट्रीब्यूर्ट्स फेडरशन के यूपी चैप्टर के अध्यक्ष डीपी सिंह ने बताया कि एक ट्राली में 18 से 1सिलेण्डर रखेोा सकते हैं। ट्राली पर एोंसी का नाम और टेलीफोन नम्बर र्दा है, ऐसे में कोई भी उपभोक्ता आसानी से शिकायत र्दा करा सकता है। एोंसी को वेण्डर की लोकेशन मिलती रहेगी। वह स्वीकारते हैं कि ट्राली थोड़ी महँगी है लेकिन उपभोक्ताओं से सीधा संवाद कायम रखने में सहायक है। श्री सिंह का मानना है कि इस तरीके से रसोई गैस के सिलेण्डरों से कथित रूप से होने वाली चोरी भी रुकेगी। उन्होंने बताया किोल्द ही सभी एोंसियों में इस ट्राली का इस्तेमाल होने लगेगा। इसके बाद साइकिल से गैस आपूर्ति का कार्य बंद कर दियाोाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब प्रोटोटाइप ट्राली से घर आएगी रसोई गैस