DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शब्बीर के गीत व रानी के ठुमके ने बांधा समा

मशहूर फिल्म पाश्र्व गायक शब्बीर कुमार के गाने व भोजपुरी फिल्म की एक्ट्रेस रानी चटर्ाी के ठुमके पर रविवार को खूब झूमे राजधानीवासी। ओ जब याद आए, बहुत याद आएचाहूंगा मै तूझे सांझ सवेर, फिर भी कभी नाम को तेरदर्द ए दिल दर्द ए जिगर दिल में जगाया आपने आदि गीत गाकर शब्बीर ने मो. रफी की याद ताजा कर दी। इसके बाद उन्होंने अपनी फिल्म प्यार झुकता नहीं के तुमसे मिल कर न जाने क्यों और भी कुछ याद आता है आदि गीतों की झड़ी लगा दी। वहीं फिल्मी गानों पर ठुमके लगाकर रानी चटर्ाी ने धूम मचाया।ड्ढr ड्ढr मौका था बिहारी खबर व बिहारी हेल्प लाइन के तत्वावधान में श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित बिहार अस्मिता सम्मान समारोह, 2008 का। इस अवसर पर बिहारी कलाकारों ने भी नृत्य व गीत की प्रस्तुति की। सम्मानित होने वालों में अभिनेता कुणाल सिंह, निर्देशक देवेंद्र पथिक, संजीव राणा, अभय सिन्हा, बलवंत शास्त्री, अरुण कुमार सिंह, शंभू प्रसाद सिंह, अमिताभ राय, एनके सिंह, डा. कुमार हर्ष, महाबल मिश्रा, विनय बिहारी भैया, धनवंत सिंह राठौर, मधुकर गंगाधर, अजीत दुबे, श्याम सुंदर गुप्ता, मुतरुजा जाफरी व गैर बिहारियों में अशोक रंधवा, जीआर खरवार, श्यामसुंदर आर्य, रानीकांत मेहता, अरविंद पांडेय, करण हिन्दुस्तानी, रानी चटर्ाी, विनोद कुमार गुप्ता और नदीम शाह शामिल थे। इस अवसर पर मुंबई पुलिस के हाथों मार गए राहुल राज को मरणोपरांत सम्मानित किया। उनके पिता कुंदन प्रसाद सिंह ने यह सम्मान ग्रहण किया। मौके पर वयोवृद्ध भाजपा नेता कैलाशपति मिश्र, पर्यटन मंत्री रामप्रवेश राय, योजना विकास मंत्री सुधा श्रीवास्तव, मंत्री प्रेम कुमार, स्वामी हरिनारायण, पटना विवि के कुलपति डा. श्याम लाल, सांसद रामकृपाल यादव, अश्विनी कुमार सिंह, जयशंकर बिहारी, अनूप कुमार आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शब्बीर के गीत व रानी के ठुमके ने बांधा समा