DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुद्धदेव से बातचीत को राजी हुए आंदोलनकारी

पश्चिम बंगाल के आंदोलनकारी आदिवासी मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य से बातचीत को राजी हो गए हैं। आंदोलनकारी पुलिस संत्रास प्रतिरोध कमेटी के बैनरतले पखवारभर से लड़ाई कर रहे हैं। इस कमेटी के नेता मानिक मांती ने सोमवार को कहा कि खुद मुख्यमंत्री ने कहा है कि वे आदिवासियों से बातचीत करने के लिए पश्चिमी मेदिनीपुर के लालगढ़ की यात्रा कर सकते हैं। मुख्यमंत्री का स्वागत है। आंदोलनकारी भी उनसे बातचीत करना चाहते हैं। यह बातचीत लालगढ़ के दलीलपुर या कांटापहाड़ी के प्राइमरी स्कूल में हो सकती है। मांती ने कहा कि मुख्यमंत्री निर्भय होकर लालगढ़ आएं, उनपर हमला नहीं होगा। आंदोलनकारी अपनी मांगों पर अडिग हैं। आंदोलनकारी माओवादी के संदोह में पुलिस अत्याचार करनेवालों पर कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। पुलिस संत्रास प्रतिरोध कमेटी के दूसर नेता लालमोहन टुडू व छत्रधर महतो ने कहा कि उन्होंने प्रशासन के उच्चाधिकारियों को पुलिस अत्याचर की शिकार सात आदिवासी महिलाओं की सूची सौप दी है। आंदोलनकारी माओवादी के संदेह में गिरफ्तार निर्दोष लोगों को तत्काल रिहा करने की मांग भी कर रहे हैं। इस बीच, बंगाल विधानसभा में वाममोर्चा के मुख्य सचेतक सैयद मोहम्मद मसीहा ने सोमवार को मुख्य विपक्षी तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया कि माओवादियों से उसकी सांठगांठ है। उन्होंने कहा कि आदिवासी आंदोलन वस्तुत: माओवादी ही चला रहे हैं। इस पर टिप्पणी करते हुए विरोधी पार्थ चटर्ाी ने कहा कि सरकार आदिवासी बहुल चार जिलों- पूर्वी व पश्चिमी मेदिनीपुर, पुरुलिया व बांकुड़ा में जारी आंदोलन से अपनी विफलता नहीं छिपा सकती।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बुद्धदेव से बातचीत को राजी हुए आंदोलनकारी