DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ग्रस्त जिलों का होगा अध्ययन

राजेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय कोसी क्षेत्र में बाढ़ से प्रभावित जिलों का अध्ययन करगा। इसके लिए कुलपति की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है। कमेटी में सभी विषयों के सात विशेषज्ञ भी रखे गये हैं। आरएयू के कुलपति मेवालाल चौधरी ने सोमवार को पटना में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि कमेटी उन इलाकों की मिट्टी के स्वरूप में आये बदलाव की जांच करगी। वैज्ञानिक किसानों से भी बात कर उनकी समस्याओं को जानेंगे।ड्ढr ड्ढr कमेटी पंद्रह से बीस दिनों में अपनी रिपोर्ट सरकार को दे देगी। सरकार को किसानों के लिए उपयोगी सलाह भी दिये जाएंगे। वैज्ञानिक यह भी देखेंगे कि कौन सी फसल वहां अब उगाई जा सकती है। मत्स्यपालन की संभावनाओं पर भी विचार किया जायेगा। चार दिन पहले कुलपति का पद संभालने वाले श्री चौधरी ने बताया कि उनकी पहली प्राथमिकता विश्वविद्यालय के सभी संस्थानों को किसानोपयोगी बनाना है। शिक्षकों और कर्मचारियों की समस्याओं को भी वे गंभीरता से देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जारी कृषि विकास के रोड मैप को सरमीं पर उतारने का वे हर संभव प्रयास करंगे। इसके लिए हर प्रकार के बीज किसानों को उपलब्ध कराने के लिए उसका उत्पादन बढ़ाया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बाढ़ग्रस्त जिलों का होगा अध्ययन