DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चाहरीली चाय ने ली एक की जान

जहरीली चाय पीने से एक साथ चार युवकों की स्थिति बिगड़ गई जिनमें एक की मौत सोमवार को भोर में हो गई। घटना दानापुर के गाभतल इलाके में हुई थी जिसके बाद चारों युवकों को कुर्जी होली फैमिली अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के क्रम में दीपक कुमार (सिकंदरपुर, शाहपुर) ने दम तोड़ दिया। दीपक के बहनोई राजीव गुप्ता के अलावा दोस्त रंजीत कुमार अब भी आईसीयू में भर्ती हैं जबकि एक अन्य दोस्त महेश राय को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है।ड्ढr दीपक की ममेरी बहन गीता देवी के घर पर ही सबके जहरीली चाय पीने की बात सामने आई है। अस्पताल में पाटलिपुत्र थाने के अधिकारियों को दिये बयान में दीपक के पिता जयकिशुन साव ने गीता पर ही शक जताया है।ड्ढr ड्ढr हालांकि उसके साथ कोई पुरानी रंजिश नहीं बल्कि बेहतर संबंध होने की बात कही है। जयकिशुन और राजीव के बड़े भाई जितेन्द्र कुमार ने बताया कि गाभतल निवासी गीता ने पिछले सप्ताह बुधवार को फोन करके दीपक को बुलाया था। करीब साढ़े तीन बजे दिन में दीपक अपने घर से गीता के यहां निकला। वहां पहुंच कर उसने मीट-भात खाई। उसी दिन राजीव के मौसेरे भाई की शादी थी जिसमें दीपक को भी दानापुर के आनंद बाजार इलाके में बारात में जाना था।ड्ढr नतीजतन उसे खोजते हुए राजीव व दो अन्य दोस्त रंजीत और महेश भी गीता के घर पहुंच गये। तब गीता ने चारों को चाय पिलाई। चाय पीते ही अचानक चारों को पसीना आने लगा और बेचैनी बढ़ गई। आनन-फानन में गीता चारों को स्थानीय डॉक्टर के यहां ले गई। हालांकि डॉक्टर ने तत्काल पीएमसीएच ले जाने को कहा। इसके बाद 1नवम्बर की देर शाम चारों को कुर्जी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां दीपक की मौत हुई। बहरहाल पुलिस ने पीएमसीएच में शव का पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया। पाटलिपुत्र थाने के एस.आई. कुमार अभिनव ने बताया कि छानबीन के बाद ही जहरीली चाय को लेकर स्थिति स्पष्ट होगी। वैसे घटनास्थल क्षेत्राधिकार से बाहर होने के कारण बयान को आगे की कार्रवाई के लिए दानापुर थाना भेजा जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चाहरीली चाय ने ली एक की जान