अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफसरों का हवाई सव्रेक्षण

रांची। केंद्र सरकार के आलाधिकारियों की टीम ने 25 नवंबर को राज्य के पुलिस पदाधिकारियों के साथ हवाई सव्रेक्षण कर नक्सल अभियान की जानकारी ली। झारखंड की नक्सल समस्या पर 28 नवंबर को दिल्ली में उच्चस्तरीय बैठक बुलायी गयी है। इसकी अध्यक्षता केंद्रीय कैबिनेट सचिव करंगे। उससे पूर्व केंद्र के अधिकारियों ने यहां की स्थिति की जानकारी ली। पिछले वर्ष आइआइसीएम में बैठक हुई थी, जिसमें कैबिनेट सचिव ने सीआइसी रलवे सेक् शन के ट्रैक के किनार सड़क बनाने का सुझाव दिया था। उनका मानना है कि इस लाइन में नक्सली घटनाएं ज्यादा होती है, लेकिन सड़क के अभाव में पुलिस कारगर कार्रवाई नहीं कर पाती है। सड़क होने से पेट्रोलिंग में भी तेजी आयेगी। इसी की जानकारी लेने केंद्र के नक्सल प्रबंधन के विशेष सचिव विनय कुमार, संयुक्त सचिव कश्मीरा सिंह, उप सचिव एसएस दास, निदेशक संजीव सहगल और आइबी के डिप्टी डायरक्टर एनके मिश्र झारखंड आये थे। इन्होंने एडीाीपी आरसी कैथल और आइजी एसएन प्रधान के साथ हवाई सव्रेक्षण कर जानकारी ली। इसके बाद अधिकारियों ने नक्सल प्रभावित दुर्गम स्थान पर जाने की इच्छा जतायी। उन्हें झुमरा ले जाया गया। तत्पश्चात वे नेतरहाट जंगल वार फेयर स्कूल गये। सभी स्थानों का मुआयना करने के बाद अधिकारी दिल्ली लौट गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अफसरों का हवाई सव्रेक्षण