DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोसड़ा में हिन्दुस्तान संवाददाता की हत्या

अपराध और भ्रष्टाचार के खिलाफ कलम चलाने वाले रोसड़ा के हिन्दुस्तान संवाददाता विकास रांन की अपराधियों ने मंगलवार की शाम गोली मारकर हत्या कर दी। श्री रांन की हत्या अपराधियों ने तब की जब वे कार्यालय से निकल कर संवाद संकलन के लिए जा रहे थे। उन्हें पहले से अपराधियों द्वारा धमकी दी जा रही थी जिसकी सूचना उन्होंने पुलिस के बड़े पदाधिकारी को भी दी थी। कार्यालय से निकल श्री रांन अपनी मोटरसाइकिल के पास गए ही थे कि पहले से बाइक खड़ी कर घात लगाए तीन अपराधियों ने सिर में नजदीक से कई गोलियां दाग दीं और हवा में ताबड़तोड़ फायरिंग करते भाग निकले।ड्ढr ड्ढr गोली की आवाज पर लोग जुटे एवं पत्रकार को अस्पताल ले गये जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। अस्पताल में जुटी भीड़ ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारबाजी की। इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रांन के हत्यारों की तुरंत गिरफ्तारी का आदेश दिया है। घटना की जानकारी मिलते ही उन्होंने डीाीपी डीएन गौतम से बात की और कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया। डीाीपी ने मुख्यमंत्री को बताया कि हत्यारों की पहचान कर ली गई है और उनकी गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई हो रही है। श्री कुमार ने कहा कि हत्यारों को स्पीडी ट्रायल के तहत सजा दिलाई जाएगी। उन्होंने पत्रकार के परिानों के प्रति संवेदनाएं भी व्यक्त की। दूसरी ओर एडीजी (मुख्यालय)-सह-पुलिस प्रवक्ता अनिल सिन्हा ने बताया कि दरभंगा के डीआईजी विनय कुमार को मौके पर जा सुपरविजन का आदेश दिया गया है। इसके अलावा समस्तीपुर एसपी के नेतृत्व में छापेमारी और अपराधियों की धर-पकड़ के लिए चार टीमें गठित की गई हैं। सीआईडी की एक टीम और डॉग स्क्वॉयड को भी रोसड़ा भेजा जा रहा है। उधर समस्तीपुर के डीएम असंगबा चूबा आओ ने अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी का भरोसा दिलाया है।ड्ढr ड्ढr सारण में माले सदस्य की पीटकर हत्याड्ढr पानापुर (सारण) (ए.सं.)। छपरा कोर्ट से केस की पैरवी कर लौट रहे भाकपा माले सदस्य को शहबाजपुर बस स्टैंड के समीप से अगवा कर लिया गया तथा बाद में लाठी-डंडे से पीट-पीटकर नृशंस हत्या कर दी गई। मृतक बसंतपुर गांव का निवासी रामप्रवेश महतो बताया गया है। दहशत फैलाने के उद्देश्य से हमलावरों ने शव को उसके दरवाजे पर फेंक दिया तथा फायरिंग करते हुए भाग निकले। इस घटना में पूर्व मुखिया मुन्ना सिंह, उनके भाई अजीत सिंह समेत आठ लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। एक माह पहले पूर्व मुखिया और माले सदस्य में गांव में ही मारपीट हुई थी जिसकी दोनों ओर से प्राथमिकी दर्ज होने के बाद रामप्रवेश को पुलिस ने जेल भेज दिया था। दस दिनों पहले वह जेल से छूटकर आया और सोमवार को छपरा कोर्ट में केस की पैरवी कर देर शाम घर लौट रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रोसड़ा में हिन्दुस्तान संवाददाता की हत्या