DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पति को देख छलक पड़ीं सीमा की आंखें

जयप्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर मंगलवार को पति संतोष कुमार को देखते ही सीमा की आंखें छलक पड़ीं। दोपहर से ही परिजनों के साथ हाथों में गुलदस्ता लिए मुस्कुराते हुए प्लेन आने का इंतजार कर रही सीमा अचानक पति को देखकर भावुक हो गई। संतोष ने उसे सीने से लगाते हुए सांत्वना दी। करीब दो महीने तक सोमालिया के जल दस्युओं के कब्जे में रहे मालवाहक जहाज एमटी स्टाल्ट वेलर के सेकेंड इंजीनियर संतोष कुमार और शिप मैन अनिल कुमार मुक्त होने के बाद मंगलवार को एयर इंडिया के विमान से पटना पहुंचे। पिछले 16 नवम्बर को ही दोनों की रिहाई की खबर यहां आई थी। एयरपोर्ट पर परिजनों के साथ ही राज्य सरकार की ओर से पीएचईडी मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने दोनों को गले लगा कर स्वागत किया। परिजनों और शुभचिंतकों ने दोनों को फूल-माला पहनाये।ड्ढr ड्ढr दुखों को बयां करते हुए शहर के पटेल नगर निवासी संतोष ने कहा ‘ घर लौटना पुर्नजन्म जैसा लग रहा है। घर वापसी सपने की तरह थी जो अब हकीकत में बदल गई है। अपहर्ताओं ने शुरू से ही हमें डराया-धमकाया। दो-तीन दिन बाद उन्होंने डराने का तरीका बदला। हमें मेंटली टॉर्चर किया। वे स्थानीय भाषा में बात कर रहे थे। बीच-बीच में कभी-कभार अंग्रजी के शब्द बोलते थे। हर दो-तीन दिनों पर उनका ड्रामा बदलता था। हम सॉफ्ट टारगेट पर थे। हमेशा हम 22 लोग घर लौटने को लेकर चिंतित रहते थे।’ दूसरी तरफ दानापुर कैंट इलाके के निवासी शिप मैन अनिल ने बताया ‘हाइजैकर्स के बीच रहना मौत के साये तले रहने की तरह था।ड्ढr ड्ढr जिस इलाके में हमें बंधक बनाया गया वह पूरी तरह हाइजैकर्स एरिया है। हाइजैकरों ने फायरिंग करते हुए धावा बोला और शिप पर चढ़ कर कब्जा जमा लिया। उनके फाइवर वॉडी वाले बोट की स्पीड 35 नॉट प्रति घंटे है जिस कारण निगरानी में वह रडार पर भी आते-जाते रहता है। उसे पकड़ना या देखना मुश्किल होता है। अगवा करने के बाद शिप को अपहर्ताओं ने ‘इल’ एरिया में रखा। अपराधियों के नेगोशियेटर ने कंपनी के साथ डीलिंग की और फिर डिमांड पूरा होने पर हमें छोड़ दिया।’ अनिल ने परिजनों के साथ ही मीडिया और मंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। विदित हो कि 15 सितंबर को सोमालियाई जल दस्युओं ने जापानी कंपनी के मुंबई की फ्लीट मेरिन लिमिटेड के तहत संचालित मालवाहक जहाज एमटी स्टाल्ट वेलर को अगवा कर लिया था। 22 अपहृतों में पटना के संतोष व दानापुर के अनिल भी शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पति को देख छलक पड़ीं सीमा की आंखें