DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्षेत्रीय भाषा जानने वाला ही पुलिस और मास्टर बनेगा

शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की ने कहा कि क्षेत्रीय भाषा जानने वाला ही पुलिस और मास्टर बनेगा। इसके लिए सरकार नियम बनाने जा रही है। झारखंड जनाधिकार मंच ने स्थानीयता की लड़ाई शुरू की थी, जिससे अब तक मंच भटका नहीं है। आदिवासी मूलवासी को राजनीतिक मुद्दा बनाकर संघर्ष करना होगा। तिर्की 27 नवंबर को मोरहाबादी मैदान में झाजमं द्वारा आयोजित झारखंडी जनाधिकार महारैली में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।ड्ढr इसमें मंच के अध्यक्ष जगदीश लोहरा, मेयर रमा खलखो, कर्नल एलएमएन शाहदेव, जलील अंसारी, लोकेश खलखो, राजा कर्मकार सहित अन्य नेताओं ने भी अपने विचार रखे।ड्ढr बंधु तिर्की ने कहा कि शुरू से अब तक राज्य के सभी मंत्रियों की संपत्ति की जांच होनी चाहिए। झाजमं गरीब-गुरबा की आवाज बन चुकी है। कुछ दलाल किस्म का लोग गरीब जनता को भड़काते हैं। ऐसे लोगों से सावधान रहना होगा। जल्द ही दिल्ली वाला (लोकसभा) चुनाव होगा। इसके बाद विधानसभा का चुनाव होगा। हंड़िया, दारू और पैसा देकर वोट खरीदने की कोशिश होगी। उन्होंने आह्वान किया कि अपना वोट मत बेचना। जो पार्टी आपके मान-सम्मान, हक और अधिकार की लड़ाई लड़ती है, उसे ही जिताना। झाजमं रांची के आसपास मांडर, खिजरी, कांके सीट पर भी कब्जा करगा। उन्होंने आदिवासियों से अपनी जमीन की रक्षा करने और बेटी-छऊवा को ईंट-भट्ठा नहीं भेजने का आह्वान किया।ड्ढr उन्होंने मुंबई में आतंकी हमले में मार गये लोगों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए केंद्र सरकार से ठोस कार्रवाई करने की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: क्षेत्रीय भाषा जानने वाला ही पुलिस और मास्टर बनेगा