अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंक का तीसरा दिन, कार्रवाई जारी

देश की आर्थिक राजधानी के आलीशान ताज और ट्राइडेंट होटलों के अंदर मोर्चा खोले आतंकियों के सफाए के लिए सुरक्षा बलों की दो दिनों की कार्रवाई के बावजूद मुंबई अभी तक आतंकवादियों का बंधक बना है। शुक्रवार सुबह कमांडो ने नरीमन हाउस में छिपे आतंकवादियों के खिलाफ अब हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। माना जा रहा है कि यहां कम से कम 5 से 6 आतंकवादी मौजूद हैं। कमांडो नरीमन हाउस की छत पर उतर चुके हैं और ऊपर के दोनों फ्लोर पर एनएसजी कमांडो का कब्जा हो गया है। नरीमन हाउस में भारी फायरिंग दोनों ओर से सुनने को मिल रहे हैं। आतंकवादियों ने 6 ग्रेनेड फेंके, जिसमें एक कमांडो बुरी तरह घायल हो गया है। ओबराय होटल तथा ताज होटल में भी कार्रवाई जारी है। ओबराय होटल में आज सुबह भी कुछ लोगों को निकाला गया है। ताज होटल में अभी भी रुक-रुककर फायरिंग की आवाज आ रही है। सेना के अधिकारी मान रहे हैं कि इन दोनों जगह अभी भी आतंकी मौजूद हैं। बुधवार रात के भयावह आतंकी हमले के बाद दोनों होटलों में दिनभर गोलीबारी और आगजनी के बीच करीब 200 लोग फंसे रहे। इधर, देश की सरामीं पर हुए अबतक के सबसे बड़े आतंकी हमले में मरनेवालों की संख्या बढ़कर 125 हो गई। यह हमला पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन लश्कर तैयबा की कारगुजारी माना जा रहा है। हालांकि उसने इससे इनकार किया है। मृतकों में विदेशी, 14 पुलिसकर्मी, होमगार्ड का एक जवान और दोनों होटलों के कई कर्मचारियों समेत 104 अन्य लोग शामिल हैं। 327 घायलों में 26 सुरक्षाकर्मी और 7 विदेशी हैं। ताज होटल से तो सभी बंधकों को सुरक्षित निकाल लिया गया। ट्राइडेंट होटल में सुरक्षा बलों के साथ भीषण लड़ाई में उलझे आतंकियों ने बंधकों पर अपना शिकांा कस दिया है। हालांकि वहां बंधक लोगों की सही संख्या के बार में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है। गुप्तचर सूत्रों के मुताबिक, दो जत्थों में 12 आतंकी पिछले करीब एक महीने से इन दोनों होटलों में आ-ाा रहे थे और वे इनके चप्पे-चप्पे से अच्छी तरह वाकिफ थे। कार्रवाई के दौरान सुरक्षाबलों ने ट्राइडेंट से लश्कर के एक आतंकी को धर दबोचा। वह पाकिस्तान के फरीदकोट का निवासी अबू इस्माइल है। सूत्रों के मुताबिक, करीब 20 से 25 आतंकी तीन छोटी नौकाओं से मुंबई तट पर उतरे थे। इन नौकाओं को तट के निकट समुद्र में एक बड़े जहाज ने उतारा था। सना क मजर जनरल आर. क. हूडा न बताया कि यह सुनियोजित साजिश क तहत किया गया आतंकी हमला है। आतंकवादी हमले में आतंकवादी निरोधक दस्ते के प्रमुख हेमंत करकर, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अशोक काम्टे, सदानंद दांते और एनकाउंटर विशषज्ञ पुलिस अधिकारी विजय सालस्कर शहीद हो गए। आतंकवादी हमलों क बाद पूरे देश में अलर्ट जारी कर दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आतंक का तीसरा दिन, कार्रवाई जारी