DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तमिलनाडु : सवा तीन लाख हैक्टेयर फसल बर्बाद

तमिलनाडु में पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी वर्षा से कावेरी नदी के मुहाने पर बसे तंजावूर, तिरुवरुर और नागपट्टिनम जिलों में 3.32 लाख हेक्टेयर से अधिक धान की फसल जलमग्न हो गई है। आधिकारिक जानकारी के अनुसार इन जिलों में नदी के मुहाने के तटीय और निचले इलाकों में रह रहे 1.87 लाख लोगों ने 1205 राहत शिविरों में शरण ले रखी है। राहत कार्यो में तेजी लाने के लिए तीन वरिष्ठ अध्िंाकारियों को नोडल अधिकारी बनाया गया है। इन अधिकारियों ने संबंधित जिला कलेक्टरों से चर्चा के प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया। तंजावरुर जिले में सांबा और थलाडी करीब 1.10 लाख हेक्टेयर फसल पानी में डूब गई तथा छह महिलाआें सहित 12 व्यक्ितयों की मौत हो गई। नागपट्टिनम जिले में एक लाख हेक्टेयर धान की फसल जलमग्न हो गई। यहां वर्षा जनित हादसों में सात महिलाआें सहित आठ व्यक्ितयों की मृत्यु के समाचार हैं। इसी तरह तिरुवरुर जिले में 1.28 लाख हेक्टर सांबा और थलाडी फसल पानी से बर्बाद हो गई। जिले के निचले इलाकों में रह रहे 66120 लोगों को 24राहत शिविरों में ठहराया गया हैं। इस बीच भारी वर्षा से वर्षाजनित हादसों में मृतकों की संख्या 8तक पहुंच गई है। इधर चक्रवाती तूफान कम दवाब क्षेत्र में जाकर कमजोर होने से मौसम में काफी सुधार आ गया है। मौसम विभाग के सूत्रों ने बताया कि चक्रवाती तूफान निशा कम दवाब के क्षेत्र में जाकर कमजोर हो गया तथा दवाब में आेर कमजोर पड़ जाएगा। यह उत्तर पश्चिम दिशा में बढ़कर और कमजोर होगा। इसके प्रभाव से अगले 24 घंटों में उत्तर तमिलनाडु और दक्षिण के कुछ हिस्सों में अगले 24 घंटों में तेज हवा के साथ वर्षा होने की संभावना है। चेन्नई शहर में आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहंेगे और एक दो बार बरसात होगी। सूत्रों में बताया कि चक्रवाती तूफान के कमजोर पड़ जाने से मौसम में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। इस बीच पुलिस मुख्यालय पर पहुंची सूचनाआें के अनुसार सुबह तब वर्षाजनित हादसों में 25 और लोगों के मरने की खबरों के साथ पिछले छह दिनों से हो रही भारी वर्षा में वर्षाजनित हादसों में मृतकों की संख्या बढ़कर 8हो गई है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तमिलनाडु : सवा तीन लाख हैक्टेयर फसल बर्बाद