DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन खिताब जीतकर सुर्खियों में रही पल्लीकल

तीन खिताब जीतकर सुर्खियों में रही पल्लीकल

भारत की युवा महिला स्क्वाश खिलाड़ी दीपिका पल्लीकल ने इस साल शानदार प्रदर्शन से अपने पुरुष साथियों को पीछे छोड़ दिया। उसने तीन डब्ल्यूआईएसपीए खिताब जीत कर महिला वर्ग में सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग हासिल कर इस साल की सर्वश्रेष्ठ स्क्वाश खिलाड़ी कहलाने का गौरव हासिल किया।
 
बीस साल की चेन्नई की इस खिलाड़ी ने अपने कैरियर की सर्वश्रेष्ठ 24वीं रैंकिंग हासिल की है। इससे पहले पूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन मीशा ग्रेवाल ने 1995 में 27वीं वरीयता हासिल की थी।

पल्लीकल सन 2006 में पेशेवर खिलाड़ी बनी थी और इस साल के शुरू में उसकी वरीयता 29 वें स्थान पर थी। उसने इस माह हांगकांग में को्रकोडाइल चैलेंज कप जीता जो उसका इस साल का उसका तीसरा खिताब था। भारत की नंबर एक खिलाड़ी ने फाइनल में हांगकांग की चान को 12-10, 8-11, 10-12, 11-8, 14-12 से हराया।
 
पल्लीकल ने इस साल अपना पहला खिताब सितंबर में कैलिफोर्निया में ओरेंज काउंटी ओपन खिताब जीता था। इसके अलावा इस साल का दूसरा खिताब अमेरिका में जीता था। पल्लीकल भारत की ऐसी पहली महिला खिलाड़ी बनी जो विश्व स्क्वाश प्रतियोगिता के क्वार्टर फाइनल में पहुंची।

पल्लीकल का मानना है कि छह बार के विश्व चैम्पियन आस्ट्रेलियाई कोच सारा फित्जेराल्ड से प्रशिक्षण लेने के कारण उसके खेल में सुधार आया है। भारत नंबर दो महिला खिलाड़ी जोशना चिनप्पा ने इस साल फरवरी में शिकागो में आयोजित प्रतियोगिता जीती। पुरुष वर्ग इस साल भारत का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। सौरव घोषाल और सिद्वार्थ कोई खास प्रदर्शन नहीं दिखा पाए।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीन खिताब जीतकर सुर्खियों में रही पल्लीकल