DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेटा की पर्सन ऑफ द ईयर बनीं हेमा मालिनी

पेटा की पर्सन ऑफ द ईयर बनीं हेमा मालिनी

ड्रीम गर्ल के नाम से मशहूर और दुनियाभर में शाकाहार को बढ़ावा देने वाली अभिनेत्री हेमा मालिनी को पशुओं के अधिकारों के लिये काम करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था पेटा की भारत स्थित शाखा ने पर्सन ऑफ द ईयर के खिताब से नवाजा है।
    
पीपल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल (पेटा) की भारत स्थित शाखा की प्रमुख पूर्वा जोशिपुरा ने कहा कि भारत के अंदर और बाहर हेमा मालिनी को लोग बेहद प्यार और सम्मान करते हैं। वह समय समय पर बेजुबान जानवरों के पक्ष में अपनी बात रखती रही हैं जिनके खिलाफ अत्याचार पर लोगों का ध्यान नहीं जाता है।
    
पूर्वा जोशिपुरा ने बताया कि राज्यसभा सांसद हेमा मालिनी ने इस वर्ष पेटा की तरफ से पर्यावरण और वन मंत्रालय से जल्लीकट्टू पर प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया। इसके ठीक बाद मंत्रालय ने भारत के राजपत्र में एक अधिसूचना जारी कर कहा कि सांडों को तमाशे के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा। इस अधिसूचना से जल्लीकट्टू के क्रूर खेल का अंत हो जायेगा।
    
उन्होंने कहा कि पेटा की तरफ से हेमा मालिनी ने मुंबई में घोड़ा गाड़ी के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाये जाने का भी अनुरोध किया। नवंबर महीने में मुंबई उच्च न्यायालय ने बिना लाइसेंस वाले घोड़ों के अस्तबल के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया। इससे आने वाले समय में मुंबई की सड़कों पर से क्रूर घोड़ा गाड़ी का अंत हो जायेगा।
    
पूर्वा जोशिपुरा ने कहा कि संभवत: हेमा मालिनी का पशुओं के लिए सबसे बड़ा योगदान उनका स्वस्थ, मानवोचित और पथ्वी के अनुकूल शाकाहारी भोजन है। उन्होंने कहा कि मांसाहारी भोजन न केवल कई घातक बीमारियों को जन्म देता है बल्कि ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन को बढ़ाता है। एक अनुमान के मुताबिक हरेक शाकाहारी व्यक्ति प्रतिवर्ष 100 से ज्यादा जानवरों की जान बचाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेटा की पर्सन ऑफ द ईयर बनीं हेमा मालिनी