एनएफआईडब्ल्यू करेगा देशव्यापी आंदोलन - एनएफआईडब्ल्यू करेगा देशव्यापी आंदोलन DA Image
20 फरवरी, 2020|4:32|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनएफआईडब्ल्यू करेगा देशव्यापी आंदोलन

जनवितरण प्रणाली (पीडीएस) से बीपीएल-एपीएल सिस्टम हटाने और सभी आंगबाड़ी सेविकाओं को सरकारी कर्मी बनाने के लिए भारतीय महिला फेडरशन (एनएफआईडब्ल्यू) देशव्यापी आंदोलन करगा। फेडरशन ने 33 फीसदी महिला आरक्षण बिल संसद के इसी सत्र में पास कराने के लिए 10 दिसम्बर को देशव्यापी जेल भरो आंदोलन का एलान भी किया। एनएफआईडब्ल्यू के तीन दिवसीय 18वें राष्ट्रीय महाधिवेशन की समाप्ति पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में नवनिर्वाचित राष्ट्रीय महामंत्री एनी राजा, उपाध्यक्ष सुशीला सहाय और सचिव सुभाषिणी शर्मा ने कहा कि पहली जनवरी 200ो साम्प्रदायिक सद्भावना दिवस मनाया जाएगा। पंचायत से लेकर ऊपरी स्तर तक लोगों को क्षेत्रियता, जातियता और धार्मिक कट्टरता के खिलाफ काम करने की शपथ दिलायी जाएगी।ड्ढr ड्ढr श्रीमती राजा ने कहा कि महिलाओं को अधिकार दिलाने के लिए भूमि संघर्ष तेज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने नेशनल फैमिली हेल्थ सव्रे (एनएफएचएस)-3 में माना है कि देश की 73 फीसदी महिलाएं और 3 वर्ष तक के 80 फीसदी बच्चे कुपोषित हैं। बावजूद केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने मातृ-शिशु दर को कम करने में योगदान देने वाले ‘टीका’ का निर्माण करने वाली देश की तीन बड़ी सरकारी कंपनियों को इसलिए बन्द कर दिया कि चेन्नई में बन रही एक निजी कम्पनी को लाभ पहुंचा सके। उन्होंने बिरादरी पंचायत और जाति पंचायत को महिला विरोधी बताते हुए सख्त रोक लगाने का आग्रह किया। उन्होंने महिलाओं का नुकसान पहुंचाने वाली आर्थिक उदारीकरण नीति को समाप्त करने की मांग की। पोस्टल गाड़ियों और एम्बुलेंस की तरह पीडीएस के अनाजों को ढोने वाली गाड़ियों का रंग पूर देश में एक समान करने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि इससे गरीबों के अनाज को ओपन माकर्ेेट में बेचने से रोका जा सकेगा। इस अवसर पर शांता राणा डे, रत्ना प्रिया और आशा प्रकाश भी उपस्थित थीं।ं

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: एनएफआईडब्ल्यू करेगा देशव्यापी आंदोलन