DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

PM ने उठाया गोर्शकोव विमानवाहक पोत का मुद्दा

PM ने उठाया गोर्शकोव विमानवाहक पोत का मुद्दा

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने रूस के साथ भारतीय नौ सेना को दिये जाने वाले एड़मिरल गोर्शकोव विमानवाहक पोत में हो रहे विलंब का मुद्दा उठाया है। उन्होंने कहा कि पोत का भारत समय पर पहुंचना महत्वपूर्ण है।
    
गोर्शकोव मुद्दा प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को क्रेमलिन में 12वें भारत़-रूस शिखर वार्ता के दौरान राष्ट्रपति दमित्री मेदवेदेव के साथ उठाया। विदेश सचिव रंजन मथाई ने कहा कि भारत और रूस दोनों इस बात पर सहमत हैं कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि विमानवाहक पोत को सौंपने में कोई चूक नहीं हो। भारत में इस पोत का नाम आईएनएस विक्रमादित्य होगा।
    
मथाई ने कहा कि सिंह ने मेदवेदेव से कहा कि यह हमारे लिये काफी महत्वपूर्ण है कि पोत समय पर पहुंचे। रूसी पक्ष के मुताबिक 2012 तक सुपुर्दगी में विलंब होगा। उन्होंने दावा किया कि जहाज पर 1.7 अरब डॉलर का अतिरिक्त काम होने के बावजूद नई दिल्ली ने पिछले वर्ष से कोई भुगतान नहीं किया है।
    
44.5 हजार टन का कीव श्रेणी का विमानवाहक पोत इस वर्ष अगस्त में आईएनएस विक्रमादित्य के नाम से सेवा में लिया जाना था जिसके लिये जनवरी 2004 में 1.5 अरब डॉलर का समझौता हुआ था। इसमें पोत की मरम्मत और 16 मिग़29 के लड़ाकू विमानों की आपूर्ति शामिल था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PM ने उठाया गोर्शकोव विमानवाहक पोत का मुद्दा