DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ममता बनर्जी की मां का निधन

ममता बनर्जी की मां का निधन

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मां गायत्री देवी का शुनिवार को सरकारी अस्पताल में निधन हो गया। पारिवारिक सूत्रों ने कहा कि 81 वर्षीय गायत्री देवी का निधन शनिवार सुबह हुआ। उनके परिवार में तीन पुत्र और एक पुत्री है।
    
गायत्री देवी को दो हफ्ते पहले एसएसकेएम अस्पताल में दाखिल कराया गया था। वह बुढ़ापे की बीमारी से ग्रस्त थीं और पिछले एक पखवाड़े से जीवन रक्षक प्रणाली पर चल रही थीं।

ममता बनर्जी कोलकाता में पांच जनवरी 1955 को गायत्री और प्रमलेश्वर बनर्जी के यहां जन्मीं थी। ममता की मां उनके पूरे राजनीतिक करियर में प्रेरणा का स्रोत रहीं। ममता के नेतृत्व में उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में भारी बहुमत से जीत दर्ज करने के साथ ही राज्य में 34 वर्ष पुराने वाम मोर्चा के शासन का अंत किया।
    
मुख्यमंत्री ने हाल में सम्पन्न कोलकाता दक्षिण लोकसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव के लिए पिकनिक गार्डेन में आयोजित चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि मेरे लिए मेरी मां ही सबकुछ है। उसके अलावा मेरा कोई नहीं है। जनता ही मेरा परिवार है।
      
ममता जब मात्र 12 वर्ष की थीं तभी उनके पिता प्रमलेश्वर बनर्जी का निधन हो गया था। पिता के निधन के बाद उन्होंने अपने बड़े भाई अजित की मदद से अपनी मां और भाई की जिम्मेदारी उठायी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनने के बाद ममता ने कहा था कि केवल सुरक्षा कारणों से वह अपना आवास नहीं छोड़ेंगी। उन्होंने कहा कि मैं वहां पर रहकर प्रतिदिन लोगों से मिलती हूं। बड़े नेता जनता से दूर रहते हैं। मैं उनके साथ रहना पसंद करती हूं।
      
ममता ने एक बार कहा था कि उनकी मां प्रतिदिन दस रुपये पॉकेट खर्च और 100 रुपये तब देती थीं जब उन्हें नई दिल्ली जाना होता था। मां से मिली इस राशि को वह बचाती थीं और प्रत्येक वर्ष मां काली की पूजा पर खर्च करती थीं। ममता यह पूजा वर्ष 1978 से अपने आवास पर आयोजित कर रही हैं जब वह छात्र नेता थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ममता बनर्जी की मां का निधन