DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेट्रो के लिए अनूठी वित्त पोषण की जरूरत: कमलनाथ

मेट्रो के लिए अनूठी वित्त पोषण की जरूरत: कमलनाथ

शहरी विकास मंत्री कमलनाथ ने देश में मेट्रो रेल परियोजनाओं के लिए अनूठी वित्त पोषण योजना की जरूरत पर बल देते हुए गुरुवार को कहा कि इसे या तो पीपीपी माडल पर चलाया जाना चाहिए या फिर पूरी तरह निजी निवेश पर छोड़ना चाहिए।

कमलनाथ ने यह भी कहा कि केन्द्र ने हरियाणा को और दो मेट्रो लाइनों की मंजूरी दी है जिसमें पहली लाइन बदरपुर-वाईएमसीए चौक और दूसरी लाइन मुंडका से बहादुरगढ़ के लिए है। उन्होंने कहा कि द्वारका सेक्टर-21 से गुड़गांव सेक्टर-29 के लिए विस्तत परियोजना रपट मंत्रालय के विचाराधीन है।

दिल्ली मेट्रो, हरियाणा सरकार और शहरी विकास मंत्रालय के बीच रैपिड मेट्रो के लिए सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करने के बाद कमलनाथ ने कहा कि हमें मेट्रो परियोजनाओं के वित्त पोषण के लिए या तो पीपीपी या फिर पूरी तरह निजी निवेश में अनूठी वित्तीय व्यवस्था तलाशने की जरूरत है। हरियाणा ने एक मेट्रो परियोजना को निजी कंपनी को सौंपने की दिशा में पहला कदम उठाया है।

रैपिड मेट्रो मौजूदा सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन को एनएच-8 से जोड़ेगी और राजधानी में यह पहली पूर्ण निजी स्वामित्व वाली मेट्रो परियोजना होगी। आज किए गए समझौते के तहत अगर निजी पक्ष भविष्य में मेट्रो प्रणाली को चालू करने या उसका परिचालन करने में विफल रहती है तो परियोजना को दिल्ली मेट्रो अपने हाथ में ले लेगी।

हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिन्दर सिंह हुड्डा ने कहा कि निजी मेट्रो नेटवर्क को मिलेनियम सिटी के 20 किलोमीटर के दायरे में ले जाने की योजना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेट्रो के लिए अनूठी वित्त पोषण की जरूरत: कमलनाथ