DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेव पार्टियों में पुलिस अब नहीं मार पाएगी छापा

रेव पार्टियों में पुलिस अब नहीं मार पाएगी छापा

गोवा में रेव पार्टियों के आयोजक पुलिस के छापों से बचने के लिए नई तरकीब आजमा रहे हैं। इसके अंतर्गत रेव पार्टियों में बजने वाला कानफोडू संगीत अब केवल इयरफोन के माध्यम से डीजे सिस्टम से जुड़ा होता है, जिससे शोर नहीं मचता। इसके लिए वाइ-फाई तकनीक का सहारा लिया जा रहा है।
   
गोवा के प्रसिद्ध अंजना बीच पर बसे एक हट के मालिक ने कहा कि यह एक दूसरे तरह की दुनिया है जहां हजारों लोग नाचते हैं लेकिन संगीत का शोर नहीं होता। इस नये चलन की शुरुआत गोवा के दो क्लबों ने की है। इनमें से एक क्लब गोवा के उत्तरी हिस्से में स्थित है तो दूसरा दक्षिण में। क्लब के मालिकों का कहना है कि उन्होंने इस तरह की शांत रेव पार्टियां कई बार आयोजित की हैं। ये पार्टियां ध्वनि प्रदूषण कानून के तहत 10 बजे के बाद बंद कर दी जाती हैं।
   
क्लब मालिकों ने कहा कि इन पार्टियों में मादक पदार्थों का प्रयोग नहीं होता। ये पार्टियां अमूमन अक्टूबर में शुरू होती हैं और नये साल के आने तक चलती हैं। लेकिन अब इसमें थोड़ा फेरबदल कर इसे दिसंबर के मध्य में शुरू किया जा रहा है। ये दिसंबर से शुरू होकर मई तक चलती हैं।
   
इन पार्टियों का आयोजन समुद्र तट के शांत और एकांत इलाकों में किया जाता है। एक अन्य मालिक ने कहा कि यहां गहरी शांति होती हैं। आप केवल लोगों को नाचते देख सकते हैं। आमतौर पर इनका प्रचार इंटरनेट और पर्चों द्वारा किया जाता है। ये पर्चे पर्यटकों और विदेशियों में बांटे जाते हैं। ज्यादा भीड़ जुटाने के लिए बहुत पहले से ही इनका प्रचार करना शुरू कर दिया जाता है। इसके अलावा मौखिक प्रचार करके भी इसकी जानकारी दी जाती है।
   
उसने कहा कि ये पार्टियां पिछले दो सालों से आयोजित की जा रही हैं। अंजुना और वेगाटोर इलाके के पास पहाड़ों में, उत्तर में अश्वेम और दक्षिण में पालोलेम जैसी जगहों पर इनका आयोजन किया जाता है। राज्य के पुलिस महानिदेशक आदित्य आर्य ने कहा कि हमें इसकी जानकारी नहीं है। लेकिन अगर इस तरह की पार्टियां हो रही हैं तो आयोजकों को पुलिस को इसकी जानकारी देनी चाहिए। हम उन पर कार्रवाई करेंगे।
   
हालांकि उन्होंने कहा कि अगर इन पार्टियों में मादक पदार्थों का प्रयोग नहीं हो रहा रहा और संगीत भी शांत रहता है तो पुलिस उन्हें नही रोकेगी। गोवा में इस तरह की शांत रेव पार्टियों का चलन 2006 के करीब शुरू हुआ। उत्तरी गोवा के पालोलेम में स्थित नेप्चून प्वाइंट क्लब में हर शनिवार को इस तरह की शांत रेव पार्टियों का आयोजन किया जाता है। इस क्लब के मालिकों का कहना है कि यहां मादक पदार्थों के प्रयोग की अनुमति नहीं दी जाती।
   
इस क्लब के पास 350 हेडफोन हैं और हर हेडफोन की कीमत 500 रूपये है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेव पार्टियों में पुलिस अब नहीं मार पाएगी छापा