DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संप्रग से पहले कांग्रेस कोर कमेटी की बैठक

संप्रग से पहले कांग्रेस कोर कमेटी की बैठक

लोकपाल विधेयक पर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की बैठक से पहले मंगलवार को कांग्रेस कोर कमेटी की बैठक हुई। बैठक संसद भवन में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यालय में हुई।

सूत्रों के अनुसार, बैठक में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ-साथ केंद्र सरकार के कई वरिष्ठ मंत्रियों व पार्टी के नेताओं ने हिस्सा लिया। बैठक लोकपाल विधेयक पर पार्टी के रुख को अंतिम रूप देने के लिए बुलाई गई थी, जिसकी कुछ धाराओं से अन्ना हजारे के सहयोगी सहमत नहीं हैं।

इस मुद्दे पर चर्चा के लिए संप्रग के सहयोगियों की बैठक शाम सात बजे 7 रेस कोर्स स्थित प्रधानमंत्री आवास पर होने वाली है। सूत्रों का कहना है कि प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के मुद्दे पर भले संप्रग की दो प्रमुख सहयोगी पार्टियां, तृणमूल कांग्रेस और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) सरकार के साथ नहीं थी, लेकिन लोकपाल के मुद्दे पर वे एकमत हैं।

सूत्रों के अनुसार, प्रधानमंत्री द्वारा बुधवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक से पहले संप्रग के घटक दलों के बीच लोकपाल पर चर्चा की जाएगी और उनकी राय ली जाएगी। सरकार बुधवार को होने वाली सर्वदलीय बैठक में विपक्षी दलों के साथ भी इस मुद्दे पर आम राय बनाने की कोशिश करेगी और उसके बाद इसे मंत्रिमंडल की बैठक में शामिल किया जाएगा, जो प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की 15-17 दिसम्बर के बीच प्रस्तावित तीन दिवसीय रूस यात्रा के बाद होनी है।

उल्लेखनीय है कि सामाजिक संगठन और विपक्षी पार्टियां प्रधानमंत्री तथा केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को भी लोकपाल के दायरे में रखने की मांग कर रही हैं। वहीं, कांग्रेस प्रधानमंत्री को कुछ संशोधनों के साथ और निचले स्तर की नौकरशाही को लोकपाल से सम्बद्ध एक अलग इकाई के दायरे में लाने का सुझाव दे रही है। वह केवल सीबीआई को लोकपाल के दायरे में लाने के पक्ष में है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संप्रग से पहले कांग्रेस कोर कमेटी की बैठक