DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकपाल के बहाने मायावती का कांग्रेस पर निशाना

लोकपाल के बहाने मायावती का कांग्रेस पर निशाना

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने कांग्रेस पर भ्रष्टाचार के खिलाफ लोकपाल विधेयक को लेकर ढुलमुल रवैया अपनाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ मजबूत तंत्र बनाने को लेकर गंभीर नहीं है, क्योंकि इसके दायरे में सबसे अधिक उसके मंत्री ही आएंगे।

मायावती ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ''चाहे 2जी घोटाला हो या राष्ट्रमंडल खेल घोटाला या आदर्श सोसाइटी घोटाला, हर घोटाले में कांग्रेस तथा उसकी सहयोगी पार्टियों के नेता व मंत्रियों के नाम सामने आए हैं।''

उन्होंने कहा कि देश के अन्य राज्यों की अपेक्षा उत्तर प्रदेश में सरकार ने लोकायुक्त की रिपोर्ट पर अधिक तत्परता से कार्रवाई की और इस क्रम में प्रभावशाली नेताओं को भी नहीं बख्शा। दूसरे राज्यों ने तो लोकायुक्त की रिपोर्ट को रद्दी की टोकरी में फेंकने का काम किया है। कनार्टक और दिल्ली इसके उदाहरण हैं।

उन्होंने लोकपाल पर आम सहमति की आवश्यकता भी जताई और कहा कि इसका गठन आम सहमति से तथा संघीय ढांचे के अनुकूल व संविधान का सम्मान करते हुए होना चाहिए। साथ ही इसमें सभी जातियों, धर्मों के लोगों को प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए।

मायावती ने लोकपाल के अंतर्गत प्रधानमंत्री के पद को लाने का भी समर्थन किया। उन्होंने सभी कर्मचारियों सहित सीबीआई को भी लोकपाल के अंतर्गत लाने की मांग की। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से सीबीआई का केंद्र सरकार दुरुपयोग करती है उससे बचने के लिए जरूरी है कि उसे केंद्र के नियंत्रण से बाहर किया जाए।

मायावती ने कांग्रेस को चेतावनी भरे लहजे में दो टूक कहा कि यदि उनकी ये मांगें नहीं मानी जाती है तो बहुजन समाज पार्टी (बसपा) इसका विरोध करेगी। उन्होंने कहा कि हम बुधवार को होने वाली सर्वदलीय बैठक में भी इस मुद्दे को उठाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोकपाल के बहाने मायावती का कांग्रेस पर निशाना