अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना की सड़कों का निर्माण जून तक

पटना की सड़कों का निर्माण अगले वर्ष जून तक पूर होने के आसार दिखने लगे हैं। पथ निर्माण विभाग ने कुछ व्यावहारिक निर्णय लेकर निर्माण में आ रहीं मुश्किलें कम करने की कोशिश शुरू की है। हालांकि अब तक नौ बड़ी सड़कों के निर्माण की प्रशासनिक स्वीकृति नहीं मिली है, बावजूद उनको बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। विभागीय सूत्रों की मानें तो रिवाइज्ड एस्टीमेट को विभाग की वित्त व्यय समिति ने हरी झंडी दे दी है। अब विभागीय मंत्री की सहमति लेकर उसे वित्त विभाग भेजा जाएगा। हालांकि इन कागजी प्रक्रियाओं को दरकिनार कर संबंधित सभी सड़कों का निर्माण शुरू किया जा रहा है।ड्ढr ड्ढr बांकीपुर-दानापुर पथ में गांधी मैदान से कुर्जी मोड़ तक दुजरा इलाके को छोड़ फोर लेन बनाया जा रहा है। कुर्जी मोड़ से दानापुर तक सड़क की चौड़ाई को देखते हुए फोर लेन की जगह तीन लेन ही बनाने का निर्णय किया गया है। यही नहीं दानापुर-खगौल पथ में तीन किमी. फोर लेन और तीन किमी. तीन लेन बनाने की कार्ययोजना बनी है। बांकीपुर-दानापुर पथ में बांस घाट और कुर्जी अस्पताल के पास पथ निर्माण विभाग स्पेशियस पार्किंग की भी व्यवस्था कर रहा है। वीरचन्द पटेल पथ को छह लेन बनाने की प्रक्रिया दो मंदिरों के कारण बाधित हो रही है।ड्ढr ड्ढr बेली रोड (जगदेव पथ मोड़ से सगुना मोड़ तक) को छह लेन बनाने के साथ ही दोनों किनार ड्रेनेज और फुटपाथ भी बनाया जा रहा है। यहीं नहीं अगले छह महीने में हार्डिंग रोड, किदवईपुरी, मीठापुर-अनिसाबाद पथ, आशियाना-पाटलिपुत्रा पथ, जगदेव पथ और बारी पथ का निर्माण भी होना तय माना जा रहा है। आशियाना-दीघा पथ, राजेन्द्र पथ, बोरिंग रोड, बोरिंग केनाल रोड और कंकड़बाग मुख्य पथ के निर्माण की जिम्मेवारी बिहार राज्य पुल निर्माण निगम ने पहले से ही संभाल रखी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना की सड़कों का निर्माण जून तक