DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अन्ना की जंतर-मंतर से हुंकार

अन्ना की जंतर-मंतर से हुंकार

अन्ना हजारे ने लोकपाल विधेयक पर संसद की स्थाई समिति की सिफारिशों के खिलाफ रविवार को एक दिन का सांकेतिक अनशन शुरू कर दिया।

हजारे ने भारत माता की जय, वन्दे मातरम के उद्घोष के साथ अपने अनशन की हुंकार भरी। उनके साथ में मंच पर शांति भूषण, प्रशांत भूषण, अरविंद केजरीवाल, अरविंद गौड़, किरण बेदी और कुमार विश्वास भी हैं।

इस अवसर पर किरण बेदी ने कहा कि सीबीआई को लोकपाल के दायरे में लाया जाना चाहिए, ताकि एजेंसी के विभिन्न राज्यों के हजारों कर्मचारी अधिकारी इसमें आ सकें। उन्होंने कहा कि सरकार सीबीआई को छोड़ना नहीं चाहती है क्योंकि सीबीआई की अल्मारियां फाइलों से भरी पड़ी हैं। लोकपाल से डर पैदा होगा, सुशासन पैदा होगा। सरकारी सेवा जो मेवा बन गई है फिर सेवा बन जाएगी।

बेदी ने कहा कि नेहरू के समय से भ्रष्टाचार के खिलाफ तंत्र बनाने की बात चल रही है। काश नेहरू जी सिस्टम दे जाते। 1962 से 2011 हो गया, पर अब जन लोकपाल लाना ही होगा। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने लोगों को धोखा दिया है और जंतर-मंतर पर एकत्र हुए लोग प्रार्थना करेंगे कि सरकार को सद्बुद्धि आए।

हजारे ने जंतर-मंतर पर सुबह करीब सवा दस बजे अपना अनशन शुरू किया। इस मौके पर एकत्रित उनके समर्थक तिरंगा लहराते हुए वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगा रहे थे। हजारे ने वंदे मातरम और भारत माता की जय का उद्घोष करते हुए अपने समर्थकों से कहा कि मेरा अनशन शुरू हो गया है। मैं अभी ज्यादा नहीं बोलूंगा।

सफेद कुर्ता और टोपी पहने हजारे का उनके समर्थकों ने अनशन स्थल पर जोरदार स्वागत किया जो ठंड की परवाह किए बिना सुबह से ही एकत्र थे। हजारे के साथ टीम अन्ना के अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसौदिया, संजय सिंह और कुमार विश्वास जैसे सदस्य भी शामिल हुए।

जंतर-मंतर के लिए रवाना होने से पहले हजारे राजघाट गए और वहां लगभग आधे घंटे तक ध्यान लगाया। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मैं ठीक और स्वस्थ हूं। लोकपाल के मुद्दे पर हजारे का यह तीसरा और जंतर-मंतर पर दूसरा विरोध प्रदर्शन है। उनका पहला विरोध प्रदर्शन जंतर-मंतर पर पांच अप्रैल को शुरू हुआ था और यह पांच दिन चला था। तब सरकार ने लोकपाल विधेयक का मसौदा तैयार करने के लिए एक संयुक्त समिति बनाई थी, जिसमें आधिकारिक प्रतिनिधि और कार्यकर्ता शामिल थे। उन्होंने अपना दूसरा अनशन अगस्त में रामलीला मैदान में किया था जो 13 दिन चला था ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अन्ना की जंतर-मंतर से हुंकार