DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिदंबरम के इस्तीफे की मांग, सरकार ने किया इंकार

चिदंबरम के इस्तीफे की मांग, सरकार ने किया इंकार

2जी घोटाले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक विशेष अदालत द्वारा तत्कालीन केंद्रीय वित्त मंत्री व मौजूदा केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदम्बरम के खिलाफ गवाही देने की अनुमति दिए जाने के मुद्दे पर विपक्षी दलों ने गुरुवार को संसद के दोनों सदनों में हंगामा किया और चिदम्बरम के इस्तीफे की मांग की।

हंगामे की वजह से दोनों सदनों में प्रश्नकाल बाधित हुआ और कार्यवाही पहली बार 12 बजे तक और फिर दो बजे तक स्थगित कर दी गई। सुबह 11 बजे जैसे ही लोकसभा की कार्यवाही आरम्भ हुई पूरे सदन ने मौन रखकर दिवंगत फिल्म अभिनेता देव आनंद को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद जैसे ही उन्होंने प्रश्नकाल आरम्भ करने के लिए लोकसभा अध्यक्ष ने सदस्य का नाम पुकारा, वैसे ही विपक्षी दलों के सदस्य चिदम्बरम के इस्तीफे की मांग को लेकर हंगामा और नारेबाजी करने लगे।

इस दौरान केरल और तमिलनाडु के सदस्य मुल्लापेरियार बांध के मुद्दे पर नारेबाजी करते देखे गए। हंगामे के बीच लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने सदस्यों से प्रश्नकाल चलने देने का अनुरोध किया लेकिन सदस्यों ने उनकी बात को अनसुनी कर दिया।
हंगामा न थमता देख मीरा कुमार ने सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी।

दोबारा जब सदन की कार्यवाही आरम्भ हुई तो सदस्यों ने फिर से हंगामा आरम्भ कर दिया। हंगामे के बीच ही मीरा कुमार ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाए। इसके बाद उन्होंने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के नेता गुरुदास दासगुप्ता का नाम महंगाई पर जारी चर्चा को आगे बढ़ाने के लिए पुकारा। इसके बावजूद सदस्यों का हंगामा नहीं थमा। केरल व तमिलनाडु के सदस्यों ने भी इस बीच हंगामा व नारेबाजी करना आरम्भ कर दिया।

मीरा कुमार ने सदस्यों को समझाने की बहुत कोशिश की। उन्होंने कहा महंगाई एक अहम मुद्दा है और इस पर चर्चा होनी चाहिए लेकिन सदस्यों ने उनकी एक न सुनी। लोकसभा अध्यक्ष ने हंगामा जारी रहता उन्होंने सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

उधर, सुबह 11 बजे जैसे ही राज्यसभा की कार्यवाही आरम्भ हुई वैसे ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एम. वेंकैया नायडू ने इस मुद्दे को उठाया। सभापति एम. हामिद अंसारी ने सदस्यों से आग्रह किया कि वे प्रश्नकाल चलने दें और उसके बाद इस मुद्दे को उठाए। लेकिन विपक्षी दलों के सदस्य खड़े होकर हंगामा करने लगे। ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) के सदस्य वी. मैत्रेयन भी चिदम्बरम के इस्तीफे की मांग कर रहे थे।

हंगामा न थमता देखा सभापति ने सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। दोबार जब सदन की कार्यवाही आरम्भ हुई तो भाजपा और अन्य विपक्षी दलों के सदस्य चिदम्बरम के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। हंगामा जारी रहता देख उपसभापति के. रहमान खान ने सदन की कार्यवाही दो बजे तक स्थगित कर दी।

उल्लेखनीय है कि 2जी मामले की सुनवाई कर रही सीबीआई की एक विशेष अदालत ने जनता पार्टी के अध्यक्ष सुब्रह्मण्यम स्वामी को चिदम्बरम के खिलाफ इस मामले में कथित संलिप्तता के सम्बंध में गवाही देने की गुरुवार को अनुमति दे दी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चिदंबरम के इस्तीफे की मांग, सरकार ने किया इंकार