DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेल कंपनियों के अफसरों ने वापस ली हड़ताल

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों के अधिकारियों के संगठन (ओएसओए) ने वेतन भत्ते बढ़ाने, विसंगतियां दूर करने और वेतन समीक्षा हर पांच वर्ष में करने सहित कई मांगों को लेकर 2 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा वापस ले ली है। पेट्रोलियम मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस सचिव आर. एस. पांडेय ने तेल कंपनियों के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशकों के साथ बैठक कर स्थिति की समीक्षा की थी और कहा कि तेल कंपनियों के अधिकारियों को पहले ही अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा बेहतर सुविधाएं मिल रही हैं। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय उपक्रमों के लिए हाल में मंजूर किए गए वेतन पैकेज में अधिकारियों के वेतन में साढ़े चार लाख रुपए से आठ लाख रुपए सालाना की वृद्धि हो रही है और कईं तरह के भत्ते एवं सुविधाएं दी जा रही हैं। सूत्रों ने बताया कि श्री पांडेय ने इन उपक्रमों के अधिकारियों से कहा है कि विश्वव्यापी आर्थिक मंदी के कारण जो आर्थिक हालात पैदा हुए हैं उसके मद्देनजर देश हित में यह हड़ताल नहीं की जानी चाहिए। कई उपक्रमों के अधिकारियों की भी यही राय थी कि आर्थिक संकट और तेल क्षेत्र के महत्व को देखते हुए यह हड़ताल करना उचित नहीं है। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम, गेल इंडिया लिमिटेड, तेल एवं प्राकृतिक गैस आयोग, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन और ऑयल इंडिया लिमिटेड इन उपक्रमों में शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तेल कंपनियों के अफसरों ने वापस ली हड़ताल