अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई घटना से भारत ने खोये पर्यटक

मुंबई की आंतकी घटना के चलते तमाम निर्दोषों की जानें तो गई ही, भारत ने पांच लाख से अधिक विदेशी पर्यटक भी खो दिये हैं। परिणाम स्वरूप इसका खामियाजा घरेलू पर्यटन उद्योग को भुगतना पड़ेगा। यह नुकसान भी करोड़ों का होना तय माना जा रहा है। पर्यटन क्षेत्र के विशेषज्ञों के मुताबिक भारत में सर्दियों का मौसम पर्यटन के लिहाज से पीक सीजन माना जाता है। इस दौरान पूर साल के अन्य महीनों के मुकाबले कहीं अधिक पर्यटक भारत आते हैं। इन्हीं दिनों में आंतकी घटना ने पर्यटन उद्योग की करोड़ों रुपये की संभावित कमाई पर पानी फेर दिया है। हाल ही में थाईलैंड में पैदा हुये अशांति के माहौल को घरलू पर्यटन उद्योग अपनी कमाई बढ़ने की संभावना के रूप में देख रहा था। इन महीनों के दौरान काफी पर्यटक बैंकाक जाते हैं। पर्यटन उद्योग मान रहा था कि वहां की अशांति के चलते अब वहां जाने वाले सार पर्यटक गोवा और भारत के अन्य समुद्र तटीय इलाकों में पर्यटन करना पसंद करंगे। मुंबई की घटना ने इस अतिरिक्त संभावित कमाई को तो चौपट किया ही, सामान्य टूरिस्ट ट्रैफि क की संभावनाओं को भी चौपट कर दिया है। इंडियन एसोसिएशन ऑफ टूर ऑपरटर्स के अध्यक्ष सुभाष गोयल के अनुसार इस घटना के चलते संभावित टूरिस्ट ट्रैफिक में कम से कम 10 फीसदी से 20 फीसदी के बीच कमी आना तय है। सालाना देश में लगभग 50 लाख विदेशी पर्यटक आते हैं। इनमें अमेरिका से लगभग 10 लाख और यूरोपीय देशों से लगभग 15 लाख टूरिस्ट आते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुंबई घटना से भारत ने खोये पर्यटक