DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनमोहन की अपील एकचाुट हों पक्ष-विपक्ष

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में रविवार शाम आयोजित सर्वदलीय बैठक में आतंकवाद के खिलाफ साझा प्रयासों और सुरक्षा व्यवस्था की खामियाँ दूर करने पर जोर दिया गया। प्रधानमंत्री आवास पर बुलाई गई इस बैठक में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ सत्ता पक्ष और विपक्ष समेत पूर देश को एकाुट होने की जरूरत है।ड्ढr बैठक में पी चिदम्बरम, प्रणव मुखर्जी, एके एंटनी, शरद पवार, मुलायम सिंह यादव, लालू यादव, अमर सिंह, एबी वर्धन, प्रकाश करात, सीताराम येचुरी समेत सभी प्रमुख दलों के वरिष्ठ नेता शामिल हुए। हालाँकि वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी और राजनाथ सिंह राजस्थान में चुनाव प्रचार में व्यस्त होने के कारण नहीं पहुँचे। भाजपा की तरफ से जसवंत सिंह और विजय कुमार मल्होत्रा शामिल हुए हैं। बैठक में मनमोहन सिंह ने कहा है कि न केवल पूर राष्ट्र बल्कि पूरी दुनिया के सामने यह संदेश जाना चाहिए कि आतंकवाद के खिलाफ जंग में हम सब एक एकमत और एकाुट हैं और संयुक्त प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई है कि बैठक के जरिए सभी यह संदेश देने में सफल रहेंगे कि देश के राजनैतिज्ञ इस मसले पर एकाुट हैं। उन्होंने संघीय जाँच एजेंसी बनाने, समुद्री और हवाई सीमाओं पर चौकसी बढ़ाने, नौसेना के आधुनिकीकरण, देश भर में चार एनएसजी हब बनाने और आतंकवाद निरोधी कार्यबलों को और मजबूत करने की बात कही। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ मौजूदा कानून और कड़े किए जाएँगे ताकि आतंकियों को बच निकलने का रास्ता न मिले। इस लड़ाई में कड़े कदम उठाए जाएँगे जिनमें रासुका लगाना भी शामिल है। इस बैठक से पहले विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने संप्रग घटक दलों की भी एक बैठक बुलाई थी ताकि सर्वदलीय बैठक में विपक्ष के हमलों के खिलाफ संप्रग एकाुट रहे। माना जा रहा है कि शिवराज पाटील के खिलाफ रलमंत्री लालू प्रसाद यादव द्वारा खोले गए मोर्चे जसे और मोर्चे न खुलें इसलिए यह बैठक बुलाई गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मनमोहन की अपील एकचाुट हों पक्ष-विपक्ष