DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

असांजे प्रत्यर्पण के खिलाफ लड़ाई जारी रख सकते है: कोर्ट

असांजे प्रत्यर्पण के खिलाफ लड़ाई जारी रख सकते है: कोर्ट

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को बलात्कार के आरोप में स्वीडन प्रत्यर्पण करने के खिलाफ अपनी लड़ाई के तहत ब्रिटिश सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करने का अधिकार सोमवार को मिल गया।

लंदन के हाईकोर्ट ने असांजे के पक्ष में फैसला सुनाया। हाईकोर्ट ने कहा कि असांजे के मामले से सार्वजनिक महत्व का सवाल खड़ा हो गया है और यह देश की शीर्षतम अदालत द्वारा ही यथाशीघ्र तय की जानी चाहिए। स्वीडन प्रशासन बलात्कार और यौन दुराचार के आरोपों को लेकर असांजे से पूछताछ करना चाहता है। दो महिलाओं ने असांजे पर अगस्त, 2010 पर स्वीडन की यात्रा के दौरान बलात्कार करने का आरोप लगाया है।

चालीस वर्षीय असांजे ने किसी भी अपराध से इनकार किया है। वह पिछले साल दिसंबर में अपनी गिरफ्तारी के समय से ही ब्रिटेन में हैं। विकीलीक्स के संस्थापक ने दावा किया है कि ये आरोप राजनीति से प्रेरित हैं जो उनकी बेवबसाइट की गतिविधियों की वजह से उनके खिलाफ लगाए गए हैं। विकीलीक्स वेबसाइट द्वारा पिछले साल ढ़ेर सारे गोपनीय दस्तावेज प्रकाशित करने से अमेरिका खासा नाराज है।

यदि आज का फैसला असांजे के खिलाफ जाता तो उन्हें 10 दिन के अंदर प्रत्यर्पण से जूझना पड़ता। पिछले साल अपनी गिरफ्तारी के बाद असांजे लंदन की वांडसवर्थ जेल में नौ दिन रहे थे। उन्होंने एक सप्ताह बाद क्रिसमस से पहले जमानत पर रिहा कर दिया गया था। वह तब से अपने एक समर्थक के घर में रह रहे हैं।

पिछले साल विकीलीक्स ने इराक युद्ध पर 391832 तथा अफगान संघर्ष पर 77000 गोपनीय अमेरिकी दस्तावेज जारी किए थे। उसने अमेरिकी विदेश विभाग और दुनियाभर में फैले 270 से अधिक अमेरिकी राजनयिक मिशनों के बीच होने वाले प्रतिदिन संवाद से जुड़े 250000 केबल जारी किए थे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:असांजे प्रत्यर्पण के खिलाफ लड़ाई जारी रख सकते है: कोर्ट