DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोर्ट ने शरद पवार के हमलावर की अस्पताल अवधि बढ़ाई

कोर्ट ने शरद पवार के हमलावर की अस्पताल अवधि बढ़ाई

केन्द्रीय कृषि मंत्री शरद पवार को चांटा मारने वाले युवक को दिल्ली की एक अदालत ने 12 दिसंबर तक मानसिक रोग उपचार अस्पताल में रखने का सोमवार को आदेश दिया। अदालत ने हमलावर युवक को उसके मानसिक स्वास्थ्य का पता लगाने के लिए मेडिकल बोर्ड द्वारा अतिरिक्त जांच किए जाने तक उसे 12 दिसंबर तक इंस्टीट्यूट आफ हयूमन बिहेवियर एंड एलाइड साइंस (आईएचबीएएस) में रखने को कहा है।
   
हरविंदर सिंह की अस्पताल अवधि को बढ़ाते हुए मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट जसजीत कौर ने इंस्टीटयूट के चिकित्सा अधीक्षक से किसी एक डाक्टर को नियुक्त करने को कहा जो सिंह की मेडिकल रिपोर्ट निजी तौर पर उन्हें देगा। अदालत के निर्देश पर हरविंदर सिंह को दो दिसंबर को चिकित्सा परीक्षणों के लिए आईएचबीएएस में भर्ती कराया गया था।
   
इंस्टीट्यूट द्वारा सौंपी गयी प्रारंभिक रिपोर्ट की पड़ताल के आधार पर अदालत ने सिंह के और टेस्ट कराने को कहा था। अदालत ने 30 नवंबर को सिंह के वकील की अपील पर चिकित्सा जांच के आदेश दिए थे। उसके वकील का कहना था कि वह मानसिक बीमारी से पीड़ित है। अदालत ने सिंह की जमानत याचिका पर सुनवाई फिलहाल टाल दी है और उसे नौ दिसंबर को अदालत में पेश किया जाएगा। उसी दिन उसकी न्यायिक हिरासत अवधि समाप्त हो रही है।
    
सिंह के लिए जमानत की अपील करते हुए उसके वकील ने कहा कि उसका मुवक्किल पिछले चार साल से मानसिक बीमारी का इलाज करा रहा है और उच्चतम न्यायालय के एक आदेश के अनुसार, एक मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति को किसी की हत्या करने तक के लिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता। सिंह के वकील आर एस ढाका ने कहा कि मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति द्वारा किसी को चांटा मारना एक मामूली अपराध है और उच्चतम न्यायालय का आदेश कहता है कि यदि मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति किसी की हत्या भी कर दे तो भी उसे दोषी नहीं ठहराया जा सकता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोर्ट ने शरद पवार के हमलावर की अस्पताल अवधि बढ़ाई