DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिन्दुस्तान के नि:शुल्क मॉक टेस्ट में शामिल हुए 1255 विद्यार्थी

झारखंड की प्रतिभाओं को प्लेटफार्म देने के लिए हिन्दुस्तान, हिन्दुस्तान टाइम्स और क्षितिज टेक्नोप्वाइंट का नि:शुल्क मॉक टेस्ट रविवार को हुआ। इसमें वर्ष 200010 की आइआइटीोइइ, एआइइइइ, पीएमटी और एमएससी बायोटेक प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे सूबे के1255 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। परीक्षा के लिए डोरंडा और रांची वीमेंस कॉलेज केंद्र बनाये गये थे। सुबह नौ बजे से ही विद्यार्थी अपने अभिभावकों के साथ परीक्षा केंद्र में पहुंचे। टेस्ट दिन के 10 बजे से दोपहर एक बजे तक चला। सभी विषयों के प्रश्न पत्र नये पैटर्न पर आधारित थे। क्षितिज टेक्नोप्वाइंट के डायरक्टर पी चटर्ाी ने बताया कि उत्तर पुस्तिका का मूल्यांकन माइक्रो और मैक्रो लेवल पर किया जायेगा। इसके अधार पर मेरिट लिस्ट तैयार किया जायेगा। सुपर 10 छात्र-छात्राओं को 24 घंटे के विशेष एकेडेमिक आब्र्जवेशन में रखा जायेगा। इसके अलावा अखिल भारतीय स्तर की टेस्ट सिरीज, पावर पैकेट और क्रैश कोर्स भी नि:शुल्क उपलब्ध कराये जायेंगे। रिाल्ट के आधार पर इच्छुक विद्यार्थी विशेष काउंसिलिंग में शामिल हो सकते हैं। प्रथम दस और अंडर 100 में आनेवाले विद्यार्थियों को विशेष छात्रवृत्ति दी जायेगी। एक दिसंबर को सुबह नौ बजे से गणित और जीव विज्ञान, शाम चार से छह बजे तक भौतिकी और शाम छह से रात्रि आठ बजे तक रसायन शास्त्र के सभी डॉउट्स क्िलयर किये जायेंगे। पीएमटी के लिए कट ऑफ माक्र्स 50, एमएससी बायोटेक्नोलॉजी के लिए 72, एआइइइइ के लिए 50 ,आइआइटीोइइ 12 वीं और 12 वीं पास के लिए 50 से 52 और 11 वीं के लिए 42 फीसदी रखा गया है। विशेष जानकारी के लिए क्षितिज टेक्नोप्वाइंट के मोबाइल नंबर और फोन नंबर 0651-3204533 पर संपर्क किया जा सकता है।ड्ढr मॉक टेस्ट ने दिखायी भविष्य की राहड्ढr रांची। एआइआइ की परीक्षा देने आये हिमांशु ने कहा कि टेस्ट में शामिल होकर नर्वसनेस दूर हुई। हिन्दुस्तान और क्षितिज टेक्नोप्वाइंट का यह प्रयास सराहनीय है। प्रश्न पत्र का स्तर इसी तरह का होना चाहिए, जिससे विद्यार्थी कंसेप्ट क्िलयर कर सकें। ज्योति कुमार ने एआइइइइ की परक्षा दी। उन्होंने बताया कि मुख्य परीक्षा के जसे ही प्रश्न पूछे गये। ऐसे टेस्ट से छात्रों का आत्मविश्वास और दृढ़ होता है। इस तरह के टेस्ट का आयोजन होते रहना चाहिए। एआइइइइ की परीक्षा देने आये सनाउल ने कहा कि क्षितिज टेक्नोप्वाइंट और हिन्दुस्तान छात्रों को भविष्य की राह दिखा रहा है। टेस्ट में शामिल होकर आत्मविश्वास बढ़ा है। मुख्य परीक्षा में बेहतर करने की कोशिश की जायेगी। डीपीएस की शिबली शैलेंद्र ने पीएमटी की परीक्षा दी। उन्होंने कहा कि आज प्रश्नों का ट्रेंड चेंज हो रहा है। क्षितिज की ओर से नये पैटर्न पर आधारित प्रश्न पूछे गये। आगे की प्रतियोगिता परीक्षा में यह लाभदायक सिद्ध होगा। रांची वीमेंस कॉलेज बीएससी प्रथम वर्ष की छात्रा प्राची प्रमाणी ने पीएमटी की परीक्षा दी। उन्होंने कहा कि टेस्ट में शामिल होकर आत्मविश्वास बढ़ा है। ऐसे टेस्ट का आयोजन होते रहना चाहिए।ड्ढr मो मेराज ने आआइटी जेइइ की परीक्षा दी। कहा कि प्रश्नों का सलेक्शन काफी स्तरीय है। इससे आगे की तैयारी में आसानी होगी। क्षितिज द्वारा छात्रों के लिए किया गया यह प्रयास काफी सराहनीय है। ऑक्सफोर्ड पब्लिक स्कूल की अनुश्री आइआइटीोइइ की परीक्षा दी। कहा कि प्रश्नों का सलेक्शन काफी स्तरीय है। प्रतियोगिता परीक्षा में इसी तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं।ड्ढr ऑक्सफोर्ड स्कूल की नेहा यादव ने आइआइटीोइइ की परीक्षा दी। कहा कि काफी हद तक नर्वसनेस दूर हुई। आत्मविश्वास बढ़ा है। इसी पैटर्न के आधार पर आगे की तैयारी की जायेगी।ड्ढr गिरीडीह से आये राहुल शंकर लाहेरी ने आइआइजेइइ की परीक्षा दी। कहा कि क्षितिज और हिन्दुस्तान का प्रयास सराहनीय है। प्रश्न पत्र काफी स्तरीय रहा। आगे की परीक्षा में यह लाभदायक साबित होगा।ड्ढr पटना से आये कुांन कुमार आनंद ने कहा कि टेस्ट में शामिल होकर आत्मविश्वास बढ़ा है। इस प्रकार के स्तरीय टेस्ट से विद्यार्थियों की वर्तमान स्थिति एवं लक्ष्य प्राप्ति स्थिति का पता चलता है।ड्ढr बालूमाथ से आये पवन कुमार यादव ने कहा कि टेस्ट का स्तर ऐसा ही होना चाहिए। प्रश्नों का सलेक्शन काफी स्तरीय था। आगे की रणनीति इसी के आधार पर बनायी जायेगी।ड्ढr रांची के विराट पंचानी ने आइआइटी जेइइ की परीक्षा दी। कहा कि भविष्य में यह टेस्ट काफी लाभदायक होगा।ड्ढr विनोद कुमार यादव ने आइआइटीोइइ की परीक्षा दी। इससे नर्वसनेस दूर हुई है। आतमविश्वास बढ़ा है। ऐसे टेस्ट का आयोजन हेते रहना चाहिए। आकांक्षा शर्मा ने कहा कि पीएमटी का प्रश्नपत्र काफी स्तरीय था। वर्तमान ट्रेंड को देखते हुए प्रश्न पूछे गये थे। आगे की तैयारी में यह काफी लाभदायक होगा।ड्ढr एलीन घोष ने आइआइटीोइइ की परीक्षा दी। कहा कि कंप्टीशन टफ हो गया है। यह टेस्ट आगे लाभदायक होगा। सुषमा कुमारी ने पीएमटी की परीक्षा दी। कहा कि क्षितिज द्वारा तैयार किया प्रश्न काफी स्तरीय है। इससे भी अपनी तैयारी का अंदाजा लगाया जा सकता है। प्रिया कुमारी ने आइआइटीोइइ की परीक्षा दी। कहा कि हिन्दुस्तान और क्षितिज का यह प्रयास सराहनीय है। टेस्ट से अपनी तैयारी का अंदाजा लगा। आगे और बेहतर करने की जरूरत है। कैराली स्कूल की शिल्पी चटर्ाी ने पीएमटी की परीक्षा दी। कहा कि प्रश्नों के बदलते ट्रेंड को ध्यान में रखकर प्रश्न पत्र तैयार किया गया था। इससे अपनी तैयारी का अंदाजा भी लग गया। आगे और बेहतर करने की ज्रूरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हिन्दुस्तान के नि:शुल्क मॉक टेस्ट में शामिल हुए 1255 विद्यार्थी