DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकपाल समिति विभाजित, 10 सदस्यों ने दिया असहमति नोट

लोकपाल समिति विभाजित, 10 सदस्यों ने दिया असहमति नोट

लोकपाल विधेयक को परख रही संसदीय स्थायी समिति में गुरुवार को उस समय विभाजन की रेखा खिंच गई जब दस सदस्यों ने मसौदे पर एक असहमति नोट पेश किया।

सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री, समूह ‘सी’ के सरकारी कर्मचारियों और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को प्रस्तावित लोकपाल के दायरे में लाने के मुद्दे पर सदस्यों के बीच फूट पड़ गई। कुछ सदस्यों ने यह आरोप भी लगाया कि जब बुधवार को आम सहमति बन गई कि समूह ‘सी’ के कर्मचारियों को लोकपाल के दायरे में लाया जाएगा तब गुरुवार को अचानक बैठक बुलाई गई और निर्णय लिया गया कि समूह ‘सी’ के कर्मचारियों को लोकपाल के दायरे से बाहर रखा जाएगा।

समाजवादी पार्टी (सपा) नेता एवं समिति के सदस्य शैलेंद्र कुमार ने कहा, ‘यह आश्चर्यजनक है कि आज बैठक क्यों बुलाई गई जबकि अधिकांश मुद्दों पर कल ही सहमति बन चुकी थी।’ उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि ये सिफारिशें प्रभावी लोकपाल का समर्थन करेंगी।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोकपाल समिति विभाजित, 10 सदस्यों ने दिया असहमति नोट