DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेहरू स्टेडियम में दिखेगा फुटबॉल का रोमांच

नेहरू स्टेडियम में दिखेगा फुटबॉल का रोमांच

जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में शुक्रवार से शुरू हो रही सैफ फुटबॉल चैम्पियनशिप के लिए सभी टीमें तैयार हैं। भारत और श्रीलंका को छोड़कर सभी टीमें विदेशी कोचों के साथ यहां पहुंची हैं। अगर टीमों के कप्तान और कोचों के दावों पर गौर करें तो लगता है कि रोमांचक मुकाबले सबका इंतजार कर रहे हैं। पहला मैच बांग्लादेश और पाकिस्तान के बीच है, इसके साथ ही दस दिन चलने वाली प्रतियोगिता का आगाज हो जायेगा। भारतीय टीम को शनिवार को एक्शन में देखा जा सकेगा।

सैफ फुटबाल में आठ टीमें हिस्सा ले रही हैं, इन्हें दो ग्रुपों में बांटा गया है। गत चैम्पियन भारत ग्रुप-ए में अफगानिस्तान, श्रीलंका और भूटान के साथ है जबकि ग्रुप बी में पाकिस्तान, बांग्लादेश, मालदीव और नेपाल की टीमें शामिल हैं।
पहले दिन दो मैच खेले जायेंगे। पहला मैच पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच खेला जाएगा। दूसरा मैच मालदीव और नेपाल के बीच होगा। भारतीय टीम अपना पहला मैच शनिवार तीन दिसंबर को अफगानिस्तान के खिलाफ खेलेगी।
टूर्नामेंट से पहले सभी टीमों कोच और कप्तानों ने संवाददाता सम्मेलन में ये जाहिर किया कि वो इस चैंपियनशिप के लिए कितनी तैयारी के साथ आये हैं। भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान क्लाइमैक्स लॉरेंस ने कहा कि हम खेलने के लिए बेताब हैं।

उन्होंने बताया कि स्टार स्ट्राइकर सुनील छेत्री और जेजे लालपेखलुआ की भी टीम के साथ जल्द ही जुड़ जाएंगे। एक दिन पहले ही टीम की जाम्बिया के हाथों बुरी हार पर भारतीय कोच सावियो मेडिरा ने कहा कि जाम्बिया की टीम रैंकिंग में हमसे काफी ऊंची थी। हमने अच्छी शुरुआत की लेकिन फिर टिक नहीं पाये। कोच ने माना कि ट्राफी जीतना आसान नहीं होगा, क्योंकि सभी टीमें तैयारी से आई हैं।

भूटान के जापानी कोच हिरोकी मातसुयामा ने कहा कि पिछले छह महीने से उनकी टीम कड़ी मेहनत कर रही है। कप्तान नवांक देनडुप ने कहा कि मैं यहां जीतने के लिए आया हूं।

श्रीलंका के कोच डी चंद्रासिरी ने कहा कि तैयारियां मार्च में शुरू हो गयी थी। इस बीच हमने कई मैत्री मैच खेले, 10 दिन तक दुबई में ट्रेनिंग की। मालदीव टीम के कोच इस्तवान उरबानयी ने कहा कि हम चार हफ्ते से तैयारी कर रहे हैं। इस दौरान हमने मलयेशिया से चार मैत्री मैच खेले। हंगरी के प्रथम डिवीजन क्लब को कोचिंग दे चुके उरबानयी ने कहा कि 2008 में मालदीव चैम्पियन बना था। अब हम दूसरा खिताब हासिल करने उतरेंगे। मालदीव के कप्तान अली अशफाक ने कहा कि हम अपना सौ प्रतिशत देने की कोशिश करेंगे।

नेपाल के कोच ग्राहम पाल रोबटर्स भी पाकिस्तान को कोचिंग दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि हम साढ़े तीन महीने से ट्रेनिंग कर रहे हैं जिसमें हमने नेपाल में मैत्री मैच खेले हैं।

पाकिस्तानी टीम के कोच जाविसा मिलोसावलजेविच हालांकि दो हफ्ते पहले ही टीम से जुड़े हैं लेकिन उनकी टीम पूरे जोश में है और वो हर मैच को जीतने के इरादे से खेलना चाहती है। पाक कप्तान जाफर खान ने कहा कि हमारी टीम अच्छी है और जीत का पूरा भरोसा है।

पाकिस्तानी कप्तान जाफर खान का कहना है कि उनके ऊपर में भारत में खेलने को लेकर कोई दबाव नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वे कमजोर खिलाड़ी होते है जो भारत में खेलने पर दबाव महसूस करते हैं। हमारे खिलाड़ी यहां पर खेलने के लिए काफी उत्साहित हैं। मुझे यह मुल्क अपना मुल्क रहता है और मैं और मेरे खिलाड़ी यहां पर खेलने का लुत्फ उठाएंगे। जाफर खान पहली बार भारत आए हैं। उन्होंने इस मौके पर कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट संबंध जल्द से जल्द शुरू होने चाहिए।

कुछ नहीं बोले बांग्लादेशी कोच निकोलाई बांग्लादेश के कोच निकोलाई ने मीडिया के सामने कुछ बोलने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि मैं टूर्नामेंट के बाद ही कुछ बोलूंगा। इसके बाद उन्होंने वहां रखी सैफ फुटबॉल चैम्पियनशिप ट्रॉफी को अपने पास रख लिया। उनके इस विश्वास को तो देखकर यहीं लग रहा था कि उनको अपनी जीत का पूरा भरोसा है। बांग्लादेश के कप्तान एमडी सुजना ने भी केवल इतना कहा कि हमारी तैयारी अच्छी है। बांग्लादेश ने अभी हाल में ही पाकिस्तान को हराया था, जिससे उसका आत्मविश्वास बढ़ा है।

मालदीव कोच ने की चुहलबाजियां
मालदीव टीम के कोच इस्तवान उरबानयी से जब मीडिया ने उनके बारे में पूछा तो वे मजाक के लहजे में बोले कि मेरी पत्नी वहां आपके पीछे बैठी है और इसके अलावा मेरी तीन गर्लफ्रेंड भी है। पूरे संवाददाता सम्मेलन के दौरान वह सबको हंसाते रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेहरू स्टेडियम में दिखेगा फुटबॉल का रोमांच