DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में 3-डी फिल्में प्रदर्शित

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में 3-डी फिल्में प्रदर्शित

सिनेमा के क्षेत्र में तकनीकी विकास की गति के साथ तालमेल बनाए रखते हुए भारत के अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में तीसरा आयाम नामक विशेष खंड में थ्री-डी फिल्में प्रदर्शित की गईं। इस नवजात क्षेत्र के उद्भव को फिल्मों के इतिहास में एक क्रांति के रूप में माना जाता है। 

प्रदर्शित की जा रही थ्री-डी फिल्मों में ‘हारा किरी’ ‘पिना’ ‘तूमेला’ और ‘केव ऑफ फॉरगॉटेन ड्रीम्स’ प्रमुख हैं। तकाशी मिके द्वारा निर्देशित ‘हारा किरी’ जापानी फिल्म है। यह कान, लंदन और वैंकूवर जैसे विभिन्न फिल्म समारोहों में पहले ही प्रदर्शित हो चुकी है।

मिके अपनी विशिष्ट शैली के साथ फिल्मों के इतिहास की कुछ बेहतरीन और सबसे सशक्त फिल्मों के निर्माण में सफल रहे हैं। ‘पिना’ जर्मनी के महान थ्री-डी कोरियोग्राफर, वुर्पटल पिना बॉस्क की अद्वितीय और प्रेरणादायक कला की विशेषता से युक्त एक फीचर डांस फिल्म है।

बॉस्क का 2009 में निधन हो गया था। यह फिल्म विम वेंडर्स द्वारा निर्देशित है जो एक जर्मन फिल्म निर्देशक, नाटककार, लेखक, फोटोग्राफर और निर्माता हैं। फिल्म पहले ही शिकागो, न्यूयॉर्क और वैंकूवर के समारोहों में प्रदर्शित हो चुकी है।

आईएफएफआई में प्रदर्शित हो रही अन्य आभासी प्रस्तुतियों में ‘तूमेला’ ऑस्ट्रेलिया के इवान सेन द्वारा निर्देशित की गई है। यह एक सुदूर आदिवासी समुदाय के दस वर्षीय लड़के की कहानी है, जो एक गैंगस्टर को रोल मॉडल मानकर अपने जीवन में भी वैसा ही बनना चाहता है।

‘केव ऑफ फॉरगॉटेन ड्रीम्स’ के निर्देशक वर्नर हीरोजोग ने अपनी फिल्म के माध्यम से एक गुफा में उकेरी गई 32,000 वर्ष पुरानी कला के बारे में बताया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में 3-डी फिल्में प्रदर्शित