DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्लडप्रेशर नियंत्रित करने में मदद करता है सेब

ब्लडप्रेशर नियंत्रित करने में मदद करता है सेब

सेब को सेहत का खजाना कहा जाता है क्योंकि इसमें प्रोटीन और विटामिन प्रचुर मात्रा में होता है और यह रसीला खूबसूरत फल कोलेस्ट्रॉल घटा कर आपका रक्तचाप सामान्य बनाए रखता है। दरअसल सेब में पेक्टिन के घुलनशील रेशे होते हैं, जो रक्त में कोलेस्ट्राल का स्तर घटाते हैं और शरीर के लिए बैक्टीरिया रोधी एजेंट की भूमिका निभाते हैं।
   
एम्स में आहार विशेषज्ञ अनुजा अग्रवाल कहती हैं सेब एक ऐसा फल है जिसमें भरपूर मात्रा में घुलनशील रेशा होता है। इसी वजह से सेब बहुत फायदेमंद माना जाता है। घुलनशील रेशे तो अतिसार के इलाज में भी मददगार होते हैं। इनमें जैल की तरह एक प्राकतिक पदार्थ होता है जो खून में कोलेस्ट्राल का स्तर घटाकर दिल के दौरे और धमनी संबंधी बीमारियों का खतरा कम करता है।
   
आहार विशेषज्ञ चारू सदाना ने कहा यूं ही नहीं कहा जाता एन एप्पल ए डे कीप्स डॉक्टर अवे। सेब सेहत के लिए सचमुच बेहद उपयोगी है। सेब में पाए जाने वाले अघुलनशील रेशे भी सेहत के लिए उपयोगी होते हैं। इनकी वजह से एंजाइम इसे आसानी से पचा नहीं पाते और पेट भरा होने का अहसास बना रहता है। सेब अपच तथा पेट की अन्य बीमारियां जैसे ऐंठन, डाइवर्टीक्यूलोसिस आदि भी दूर करता है, जो कोलोन का कैंसर, एपेंडिक्स, हीमोरॉयड, हर्निया और गालस्टोन जैसी समस्याओं का कारण होती है।
   
आहार विशेषज्ञ कामिनी बाली ने कहा लोग अक्सर सेब छील कर खाते हैं लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। सेब के छिलके में कई जरुरी पोषक तत्व होते हैं। कामिनी ने कहा एक सेब के छिलके में औसतन चार मिलीग्राम क्वेरसेटिन होता है। क्वेरसेटिन में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसकी वजह से कोशिकाएं तंदुरूस्त बनी रहती हैं और यह तत्व वायुमंडल में पाए जाने वाले कैंसरकारी एजेंटों को भी रोकता है जिससे शरीर में कैंसर का विकास और प्रसार रूक सकता है।
   
चारू ने कहा शरीर के किसी भाग में होने वाली जलन दूर करने में क्वेरसेटिन मददगार होता है क्योंकि इसमें जलन रोकने वाला गुण होता है। यह एलर्जी के कई प्रकारों से भी बचाता है। अनुजा के अनुसार सेब में पॉलीफेनॉल एंटीऑक्सीडेंट यानी ल्यूटीन, लाइकोपेन, केरोटिन और एंथोसाइनिन और फ्लेवनाइड अर्थात फाइटोन्यूट्रिएंट पाए जाते हैं जिसकी वजह से शरीर की प्रतिरोधक प्रणाली बेहतर कामकाज करती है। हम कह सकते हैं कि वायुमंडल के बैक्टीरिया और वायरस के दुष्प्रभावों से बचाने में पॉलीफेनॉल एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोन्यूट्रिएंट की अहम भूमिका होती है।
   
सेब की ये खूबियां विदेशों में 30 नवंबर को ईट एन एप्पल ए डे मनाने की सार्थकता साफ जाहिर कर देती हैं। भारत में ऐसा कोई दिन नहीं मनाया जाता, लेकिन सवा अरब की आबादी वाले हमारे देश में हर दिन बढ़ती बीमारियों की रफ्तार को थामने में सेब का सेवन काफी मददगार साबित हो सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ब्लडप्रेशर नियंत्रित करने में मदद करता है सेब