DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिन्दुस्तान के प्यार ने खत्म किया खौफ

हिन्दुस्तान में आतंकवादियों की फैलाई गई दहशतगर्दी से पाकिस्तान में भी लोग खौफादा हैं। दोस्ती के लिए डर पर काबू करके यहाँ आने का फैसला किया। यहाँ के लोगों के प्यार ने वह खौफ खत्म कर दिया। हालात कैसे भी हों हम अपने देश और हिन्दुस्तान के रिश्तों में अमन और मोहब्बत चाहते हैं।ोो आतंकवादी मुसलमान होने का दम भरते हैं वास्तव में उनका तो कोई माहब ही नहीं है।ड्ढr मुझे किसी दहशतगर्द के गुट का नाम नहीं याद, याद रखना भी नहीं चाहते, याद है तो बस इनके दिए हुएोख्म, पाकिस्तान मेंोब भी कोई बम धमाका हुआ है तो मार गए लोगों के परिवार के साथ हमने भी आँसू बहाए हैं। अब मुम्बई का दर्द भी महसूस कर रहे हैं। मेरा सामना किसी आतंकवादी से होोाए तो पूछूँगा कि किसकी बेहतरी के लिए इतना खून बहाते हो, खुदा को क्या मुह दिखाओगे।ड्ढr अक्सर आतंकवाद को लोग धर्म सेोोड़कर उसका गलत मतलब निकालते हैं। धर्म तो शांति सदभावना, ईमानदारी एवं सच्चाई का पैगाम देता है। आा सब धर्मो से यादाोरूरत इनसानियत के धर्म की हैोो लोगों के दिलों में एकता की मशालोलाए।ड्ढr यह कहना है इण्टरमीडिएट के छात्र अर्सलान अली, सादिक, हमाा एवं पाकिस्तानी टीम लीडर माािद रसूल का है। यह लोग पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के भविष्य हैं।ोो सिटी माण्टेसरी स्कूल के बुलावे पर आए हैं। सोमवार को स्कूल के कानपुर रोड स्थित ऑडिटोरियम में पाकिस्तान सहित इग्लैण्ड, भूटान, दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के छात्रों ने मोमबत्तियाँोलाकर मुम्बई में आतंकवादी हमले में मार गए लोगों को श्रद्धाांलि दी। छात्रों को सीएमएस ने ‘आओ दोस्ती कर’ प्रोोक्ट के तहत आमंत्रित किया है। इस मौके पर सीएमएस के छात्रों के साथ स्कूल संस्थापकोगदीश गांधी एवं पत्नी भारती गांधी भी उपस्थित थीं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हिन्दुस्तान के प्यार ने खत्म किया खौफ