DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना जंक्शन का हाल: बाहरी उठा रहे यात्री सुविधा का लाभ

पटना जंक्शन परिसर में अवैध प्रवेश की खुली छूट के कारण यात्रियों को परशानी झेलनी पड़ती है। जंक्शन का उच्च श्रेणी वेटिंग हॉल हो या रलवे कैंटिन। पेयजल हो अथवा शौचालय। हर जगह अवैध लोगों का जमावड़ा रहता है। इसका खामियाजा यात्री भुगतते हैं। सर्वाधिक परशानी पहले तल्ले पर स्थित उच्च श्रेणी वेटिंग हॉल की है। ऊपर में स्थित होने के कारण यहां यात्रियों की चहलकदमी कम रहती है। वर्दीधारी भी भूले-भटके ही इधर आते हैं। इस कारण यह हॉल बाहरी लोगों का आरामगृह बना रहता है।ड्ढr ड्ढr टेबल पर बड़े आराम से लोग सोए रहते हैं। न कोई टोकने वाला न रोकने वाला। गेट पर कार्यरत रलकर्मी को भी कई बार बाहरी लोगों के कोपभाजन का शिकार होना पड़ा है। स्टेशन प्रबंधक से कई बार रलकर्मी ने इसकी शिकायत की है, पर कोई फायदा नहीं हुआ। रलकर्मी बताते हैं कि जंक्शन परिसर में अवैध प्रवेश पर रोक नहीं रहने के कारण इस तरह की पेरशानियां होती हैं। इसी प्रकार प्लेटफार्म एक पर स्थित रलवे कैंटिन में सुबह से देर रात तक बाहरी लोगों की बैठकी जमती है। कैंटिन में शायद ही कभी यात्री को बैठने का मौका मिलता है। पेयजल के नलों पर जंक्शन के आस-पास के दुकानदार, भिखारी, उचक्के आदि जमे रहते हैं। यही स्थिति शौचालय का है। बाहरी लोग खुलेआम प्लेटफार्म एक पर स्थित शौचालय का उपयोग करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना जंक्शन का हाल: बाहरी उठा रहे यात्री सुविधा का लाभ